रोहतास में उद्योग मंत्री ने किया प्लास्टिक फैक्ट्री का मुआयना, बोले- बिहार में बिछेगा उद्योगों का जाल

सूबे के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन रविवार को बिक्रमगंज के धावां में स्थित भारत डोमेस्टो वेयर प्लास्टिक फैक्ट्री का मुआयना किया. उद्योग मंत्री ने कहा कि रोहतास जिले के आनंद मोहन ने कई साल नौकरी की. कोरोना काल में बिहार लौटे और अपने गांव में प्लास्टिक फैक्ट्री लगा दी. युवा उद्यमी आनंद भारत डोमेस्टोवेयर के नाम से कई तरह के घरेलू प्लास्टिक प्रोडक्ट्स बना रहे हैं. उन्होंने उद्योगपति आंनद मोहन से सभी तरह से सहयोग करने का आश्वासन दिया. इसके बाद बिक्रमगंज के अजीत आडोटोरियम में भाजयुमो के जनसंवाद कार्यक्रम में शामिल होने के बाद कोरोना काल में जॉब छोड़ फैक्ट्री मालिक बन स्थानीय कुछ लोगों को रोजगार से जोड़ने वाले युवा की हौसला आफजाई किए. बिक्रमगंज में मंत्री सैयद शहनवाज हुसैन का कई स्थानों पर स्वागत किया गया.

युवा संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री शहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार के सभी जिलों में बड़े पैमाने के उद्योग स्थापित होंगे. दो सौ बिहारियों को बिहार का उद्योगपति बनाना है. इस पर कार्य शुरू हो गया है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हमे बिहार में उद्योग लगाने की जिम्मेवारी देकर बिहार भेजा है. उस जिम्मेवारी को हमे हर हाल में पूरा करना है. उन्होंने पूर्व में किए अपने कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि हमे जो जिम्मवारी मिली है उसे पूरा किया है, और इस जिम्मेवारी को भी पूरा करना है. उन्होंने कहा कि युवाओं को 10 लाख रूपये की आर्थिक सहायता बिना व्याज पर दिया जा रहा है. जिसमे 5 लाख की सब्सीडी है. संवाद कार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष पंकज सिंह और संचालन प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रितेश राज ने किया. कार्यक्रम में विधान परिषद निवेदिता सिंह, पूर्व विधायक राजेश्वर राज, भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष दुर्गेश सिंह समेत अन्य लोग मौजूद थे.

इसके बाद उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन जिला मुख्यालय सासाराम पहुंचे. जहां उन्होंने समाहरणालय स्थित डीआरडीए सभागार में बैठक की. बैठक में उन्होंने डीडीसी शेखर आनंद एवं अन्य पदाधिकारियों के साथ जिले में चल रही उद्योग विभाग की सभी योजनाओं की समीक्षा की एवं जरूरी दिशा निर्देश दिए. बैठक में मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति उद्यमी योजनान्तर्गत आवेदक को पांच लाख अनुदान को लेकर समीक्षा हुई. महाप्रबंधक ने बताया कि रोहतास जिले में 350 आवेदन प्राप्त हुए है. मंत्री ने हिदायत दी कि इस योजना में कोई बाहरी दलालों का भूमिका नहीं होना चाहिए. यह योजना पारदर्शी है, उद्यमियों को उनकी योग्यता के अनुसार चयन होता है. उद्योग मंत्री ने संबंधित पदाधिकारियों से रोहतास में खादी उद्योग को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित करने को कहा. बैठक में इथेनॉल का कारखाना खोलने पर भी चर्चा किया गया.

Leave a Reply