बिक्रमगंज के 64 गांवों में बिल नहीं जमा करने से कटने वाली है बिजली, किसानों की फरियाद धान रोपाई तक नहीं काटी जाए बिजली

बिक्रमगंज अनुमंडल के 64 गांवों में बिजली बिल जमा नहीं करने पर बिजली काटी जानी है. इसे ले किसानों का प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को बिजली विभाग के कार्यालय पहुंचा और 31 जुलाई तक बिजली ना काटे जाने की फरीयाद की.

किसानों का कहना था कि जिले में सुखाड़ के हालात है और अभी सिंचाई का एक मात्र साधन बिजली से चलने वाले नलकूप एवं मोटर पंप है. ऐसे में बिजली काट देने पर अनुमंडल क्षेत्र के 64 गांव में रोपनी नहीं हो पाएगी. किसानों का नेतृत्व भाजपा नेता राजेंद्र सिंह ने कहा कि रोहतास धान का कटोरा कहा जाता है, लेकिन बारिश ना होने के कारण सुखाड़ के हालात है.

कहा कि अगर गांवों में अभी बिजली काट दी गई, तो धान की रोपनी भी नहीं हो पाएगी. विभाग के अधिकारियों से मिलकर अभी 31 जुलाई तक बिजली ना काटने का अनुरोध किया गया है, ताकि इलाके में धान की रोपनी हो सके. कहा कि गांवों में शिविर लगाकर बकाया बिजली जमा कराने को कहा गया है.

कहा कि विभाग के अधिकारियों ने मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया है. ज्ञात हो कि बिजली विभाग द्वारा उन गांवों की बिजली बिल काटने का निर्णय लिया गया है, जिन गांवों में मात्र 20 प्रतिशत उपभोक्ता ही समय पर बिजली बिल जमा करते है. ऐसे सूची में बिक्रमगंज अनुमंडल के 64 गांव शामिल है.

Leave a Reply