सासाराम: 22 कोचिंग संचालकों समेत 45 लोगों पर एफआईआर दर्ज

सासाराम के गौरक्षणी स्थित सील एक कोचिंग संस्थान

बिहार में कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए बिहार सरकार ने तमाम निजी और सरकारी स्कूल, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थान 11 अप्रैल तक बंद कर दिए गए हैं. उक्त के अनुपालन के क्रम सोमवार को सासाराम शहर के गौरक्षणी स्थित कोचिंग संस्थानों को निर्देश देने गए प्रशासन टीम पर हमला, हंगामा, आगजनी एवं तोड़फोड़ के मामले में 45 लोगों पर प्रशासन ने प्राथमिकी दर्ज कराई है.

शहर के गौरक्षणी स्थित सुमन फिजिक्स क्लासेज, गुड्डू मैथमेटिक्स क्लासेज, अभिषेक कमेस्ट्री क्लासेज, मनजीत फिजिस्क क्लासेज, कनक इंग्लिस क्लासेज, अरुण कमेस्ट्री क्लासेज, ओपी देव फिजिक्स क्लासेज, राजेश कमेस्ट्री क्लासेज, रौशन सर मैथ क्लासेज, मौर्या कमेस्ट्री क्लासेज, विकास बायोलॉजी क्लासेज, सोनू कमेस्ट्री क्लासेज, मां शारदा मैथ मेटिक्स क्लासेज, ज्योति प्रकाश फिजिक्स क्लासेज, ऑक्सीब्रीज इंग्लिश क्लासेज, विद्यासागर फिजिक्स क्लासेज, राजीव इंग्लिश क्लासेज, अनिल माथुर इंग्लिश क्लासेज, गुरु द्रोणा केमेस्ट्री क्लासेज, मेनटर्स क्लासेज, रतनेश फिजिक्स क्लासेज, कुमार देशदीपक कोचिंग सेंटर के संचालक व शिक्षक पर नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है. इनपर हंगामा के लिए सैकड़ों छात्रों को इक्ट्‌ठा कर उकसाने के आरोप हैं.

सासाराम नगर थाना में दर्ज कराई गई इस प्राथमिकी में 22 कोचिंग संचालकों के अलावे 23 छात्र एवं असमाजिक तत्व में इस प्राथमिकी में नामजद आरोपी हैं. इनमें 16 वो लोग भी शामिल जो सोमवार को घटना के दिन पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था. दर्ज एफआईआर में उक्त गिरफ्तार लोगों पर पुलिस बल पर हमला करने, सरकारी कार्य में बाधा डालने, सरकारी सम्पति का नुकसान पहुंचाने एवं शहर में अराजकता का माहौल बनाने का आरोप है.

वहीं, दर्ज कराई गई इस प्राथमिकी के आलोक में रोहतास एसपी आशीष भारती ने सबको गिरफ्तार करने का निर्देश सासाराम पुलिस को दिया है. प्रशासन की इस कार्रवाई के अलावे नगर निगम सासाराम को यह निर्देश दिया गया है कि जिन मकानों में कोचिंग का संचालन हो रहे थे. उनके भी जांच किए जाए. क्योंकि संचालकों द्वारा मकानों का सही विवरण प्रशासन के पास नहीं भेजा गया था.

सभी 22 कोचिंग संस्थानों को सील करने के बाद प्रशासन की टीम ने गिरफ्तारी के लिए सोमवार को रात भर छापेमारी की. सुबह में भी पुलिस की एक टीम दंडाधिकारी के साथ गश्त लगाई. हालांकि सोमवार को 16 लोगों की गिरफ्तारी के बाद अभी तक किसी की गिरफ्तारी की सूचना नहीं है. डीएम धर्मेंद्र कुमार ने कहा कि विभिन्न स्रोतों से उक्त कुकृत्य के वीडियो फुटेज भी प्राप्त हुए हैं. वीडियो फुटेज के आधार पर चिह्नित उपद्रवियों पर कानूनी कार्रवाई की जा रही है.

Ad.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here