रोहतास व कैमूर में समर्पण दिवस के रूप में मनी डीएफओ संजय सिंह की 19वीं पुण्यतिथि

तत्कालीन शाहाबाद वन प्रमंडल के शहीद डीएफओ संजय सिंह की 19वीं पुण्यतिथि सोमवार को समर्पण दिवस के रूप मनाया गया. रोहतास वन प्रमंडल कार्यालय, भभुआ नगर में स्थित शहीद संजय सिंह महिला महाविद्यालय समेत कई शिक्षण संस्थानों में उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया.

Ad.

रोहतास वन प्रमंडल कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में अधिकारियों व कर्मियों ने शहीद डीएफओ के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित किया. इस दौरान वनकर्मियों ने भी सलामी दी. इस अवसर पर सासाराम रेंज के रेंजर सत्येन्द्र कुमार शर्मा, बिक्रमगंज के तितू मंडल समेत अन्य अधिकारी व कर्मी उपस्थित थे.

रोहतास वन कार्यालय में डीएफओ संजय सिंह की 19वीं पुण्यतिथि पर सलामी देते वनकर्मी

वहीं, भभुआ नगर में स्थित शहीद संजय सिंह महिला महाविद्यालय में सोमवार को डीएफओ संजय सिंह की 19 वीं पुण्यतिथि मनाई गई. इस दौरान महाविद्यालय परिसर में पौधारोपण किया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ तारा सिंह ने की. कार्यक्रम में अतिथि के रूप में कैमूर डीएफओ विकास अहलावत मौजूद रहे. श्रद्धांजलि कार्यक्रम के बाद एक संगोष्ठी का भी आयोजन किया गया. कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए डीएफओ विकास कुमार अहलावत ने कहा कि स्व. संजय सिंह ने प्राकृतिक संपदा की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहूति दे दी. उनका बलिदान सदैव लोगों को सीख देता रहेगा. उन्होंने कहा कि 15 फरवरी 2002 में उन्होंने पहाड़ व प्राकृतिक संपदा को बचाने में अपने प्राणों की आहुति दे दी थी. विद्यालय की प्राचार्या डॉ तारा सिंह ने कहा कि उनका व्यक्तित्व व कृतित्व बहुआयामी था. युवा पीढ़ी उनके व्यक्तित्व व कृतित्व से सीख लेकर अपने जीवन का विकास कर सकेंगे.

भभुआ स्थित शहीद संजय सिंह महिला महाविद्यालय में डीएफओ संजय सिंह की 19 वीं पुण्यतिथि मनाई गई

बता दें कि 15 फरवरी 2002 को नौहट्टा प्रखंड के रेहल स्थित वन विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय से नक्सलियों ने उन्हें अगवा कर हत्या कर दी थी. हत्या की घटना के बाद पूरे जिले में विरोध-प्रदर्शन भी हुआ था. तत्कालीन वन व पर्यावरण मंत्री जगदानंद सिंह ने संजय सिंह के नाम पर वन विभाग कार्यालय परिसर में प्रतिमा व स्मृति पार्क का निर्माण कराने की घोषणा की थी, जो अब तक अपूर्ण है.

Ad.

Leave a Reply