रोहतास: जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा शुरू, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की ओर से निकली जन-जागरूकता रैली

विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर रोहतास जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में जागरूकता एवं जनसंख्या नियंत्रण के लिए 11 से 31 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जा रहा है. पखवाड़े के दौरान जिलेवासियों को जनसंख्या नियंत्रण के लिए जागरूक किया जाएगा. जिलाधिकारी द्वारा अधिकारियों के साथ बैठक करके जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाने को लेकर पहले ही तैयारियों की समीक्षा की गई थी. सोमवार को सदर अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग की ओर से रैली निकाली गई. जिसमें एएनएम, जीएनएन एवं आशा कार्यकर्ताओं ने भाग ले शहर के विभिन्न मार्गों में घूम-घूम कर जनसंख्या नियंत्रण को लेकर लोगों को संदेश दिया. इस अवसर पर परिवार नियोजन सेवा पखवारा का भी शुभारंभ किया गया. रैली को सिविल सर्जन डा. सुधीर कुमार ने हरी झंडी दिखा कर रवाना किया.

सिविल सर्जन ने कहा कि जनसंख्या स्थिरीकरण होना निहायत जरूरी है. उन्होंने कहा जनसंख्या नियंत्रण में हम सभी की सहभागिता होनी चाहिए. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि छोटा परिवार और सुखी परिवार की धारणा को अपनाते हुए जनसंख्या नियंत्रण में हमें सहयोग करना चाहिए. सीएस ने जनसंख्या के दुष्प्रभाव के बारे में बताया गया. इसके साथ ही जनसंख्या नियंत्रण के फायदे भी बताएं. परिवार नियोजन सेवा पखवारा के पहले दिन तीन महिलाओं की नसबंदी भी की गई. सिविल सर्जन ने बताया कि इस पखवारा के तहत पुरुष एवं महिलाओं की नसबंदी की जाएगी. पुरुष नसबंदी को लेकर ज्यादा जोर दिया जा रहा है. उन्होंने कहा है कि पुरुष नसबंदी को लेकर मन में भ्रम न पालें, क्योंकि पुरुष नसबंदी कराने के बाद किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होती है. बस एक छोटा सा ऑपरेशन विधि है उसके बाद चंद घंटों में मरीज को छुट्टी दे दी जाती है. नसबंदी के बाद भी पुरुष पहले की तरह सभी कार्यों को बेहतर तरीके से कर सकते हैं.

वहीं, सदर अस्पताल परिसर में परिवार नियोजन से जुड़ी समस्याओं की जानकारी एवं समाधान को लेकर कई तरह के स्टाल भी लगाए गए, जहां पर परिवार नियोजन के साधनों- कंडोम, गर्भ निरोधक इंजेक्शन एवं एवं गर्भ निरोधक गोली के बारे में लोगों को जानकारी दी गई. साथ ही लोगों को दो बच्चों के बीच जन्म में अंतर कैसे बनाए रखें और इसके फायदों को भी लोगों को समझाया गया.

Leave a Reply