रोहतास व कैमूर में वनकर्मियों को जल्द मिलेगा वॉकी-टॉकी

रोहतास व कैमूर जिले के कैमूर पहाड़ी पर नेटवर्क की स्थिति से आम लोग के साथ-साथ वन विभाग भी जूझ रहा है. वन क्षेत्र में आपसी समन्वय तथा आपातकालीन सूचना के लिए जल्द वन विभाग के कर्मियों को वॉकी-टॉकी मिलेगा. इसके लिए नेटवर्किंग कम्यूनिकेशन को ठीक रखने के लिए पहाड़ी क्षेत्रों में टॉवर लगाने का काम किया जाएगा. रोहतास जिले के कैमूर पहाड़ी एवं अधौरा के रेंज आफिस में इसके लिए टॉवर लगाया जा रहा है. कोलकाता के इंजीनियर व अन्य कर्मियों के द्वारा टॉवर बैठाने का काम शुरू कर दिया गया है.

Ad.

इस टॉवर के माध्यम से सभी वॉकी टॉकी काम करेंगे. जिससे आपातकालीन स्थिति में वन पाल, वनरक्षी व रेंजर आदि तत्कालीन सूचना जिला कार्यालय वन विभाग को दे सकते हैं. इसके अलावा आपस में भी उस वॉकी टॉकी के माध्यम से बात की जाएगी. इसके लिए वन विभाग वॉकी टॉकी भी खरीदेगा. अधिकांश वॉकी टॉकी पहाड़ी क्षेत्रों में दिया जाएगा. ताकि आपसी समन्वय बनाया जा सके.

दरअसल रोहतास जिले के पहाड़ी प्रखंड नौहट्टा, चेनारी, रोहतास एवं कैमूर के अधौरा, चैनपुर तथा भगवानपुर के क्षेत्रों में नेटवर्क की स्थिति ठीक नहीं है. ऐसे में जिला वन मुख्यालय से वन कर्मियों से संपर्क करने में परेशानी होती थी. उनके लोकेशन आदि की भी जानकारी नहीं मिल पाती थी. लेकिन अब टावर के बैठाए जाने के बाद क्षेत्र में वॉकी-टॉकी के लिए नेटवर्क उपस्थित हो जाएगा. जिससे वॉकी टॉकी से बात हो पाएगी. पहाड़ी के किसी भी क्षेत्र से वॉकी टॉकी के माध्यम से वन कर्मी जिले के कार्यालय व अन्य वन कर्मियों से जुड़ सकेंगे.

रोहतास वन प्रमंडल पदाधिकारी प्रद्युमन गौरव ने बताया कि पहाड़ी क्षेत्रों से जिला कार्यालय एवं आपसी संपर्क के लिए वॉकी टॉकी देने की तैयारी चल रही है. फिलहाल लगभग 15 वॉकी टॉकी खरीदे जाएंगे. आने वाले समय में और अधिक वॉकी टॉकी लिए जाएंगे. वन कर्मियों से आपस में बात किया जाएगा. आपातकालीन स्थिति में भी बात करने में आसानी होगी. पहाड़ी क्षेत्रों में वॉकी टॉकी उपलब्ध कराया जाएगा.

Ad.

Leave a Reply