करगहर सीओ समेत पांच पंचायत सचिवों पर विभागीय कार्रवाई का आदेश, मुखिया पर होगी प्राथमिकी

डीएम पंकज दीक्षित ने बुधवार को करगहर प्रखंड के अररुआं पंचायत के विभिन्न वार्डों में मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना व पैक्सों में धान की खरीदारी की जांच की. उन्होंने ग्राम पंचायत के महादलित बस्ती शंकर टोला में विकास कार्यों का जायजा लिया. इस दौरान करगहर प्रखंड कार्यालय स्थित सभागार भवन में डीएम पंकज दीक्षित ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. इस दौरान डीएम पूरे एक्‍शन में नजर आए. कई शिथिल पदाधिकारियों पर कार्रवाई की. कर्तव्यहीनता के आरोप में करगहर बीडीओ मो. असलम का एक सप्ताह का वेतन कटौती का आदेश जारी किया गया है. करगहर सीओ सूरजेश्वर श्रीवास्तव एवं पांच पंचायत सचिवों पर प्रपत्र ‘क’ गठित करने का डीएम ने आदेश दिया. साथ ही कैशबुक अद्यतन नहीं रहने पर प्रखंड नाजिर ब्रजेश कुमार पाण्डेय का 15 दिनों का वेतन काटने के साथ ही शो कॉज किया गया. सामुदायिक शौचालय में 15वीं वित्त आयोग से 90 हजार की राशि प्रखंड कार्यालय को नहीं देने वाले संबंधित मुखिया पर प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश भी डीएम ने दिया.

Ad.

समीक्षा बैठक आरंभ होते ही डीएम ने विभिन्न विभागों की समीक्षा के बाद अधिकारी एवं कर्मचारियों को कार्यों में पारदर्शिता लाने का निर्देश देते हुए कहा कि वे सुधर जाएं वरना कार्रवाई के लिए तैयार रहें. कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर डीएम जमकर बरसे. बैठक के दौरान अधिकारियों के हाथ-पांव फूलते रहे.

समीक्षा बैठक में शिक्षकों की बहाली में पारदर्शिता लाने, विशेषकर छोटे-छोटे किसानों का पैक्स में धान जमा कराने, निर्धारित समय पर दाखिल खारिज निपटाने, दलित व महादलित बस्तियों में बने सामुदायिक शौचालय को जल्द से जल्द पूरा कर राशि भुगतान करने, सरकार की तमाम योजनाओं को जल्द से जल्द पूरा करने का कड़ा निर्देश दिया गया. करगहर-फुली पथ की जर्जर स्थिति को लेकर डीएम गंभीर दिखे. उन्होंने पथ निर्माण विभाग के अधिकारियों को तलब कर जल्द से जल्द मरम्‍मत करने का निर्देश दिया. भूमिहीन लोगों को जमीन चिह्नित कर उसे भूमि उपलब्ध कराने का भी निर्देश डीएम ने दिया.

Ad.

Leave a Reply