रोहतास: पंचायत चुनाव से पहले झड़प में इंस्पेक्टर समेत 9 पुलिसकर्मी जख्मी, 28 गिरफ्तार

रोहतास जिले के नोखा थाना क्षेत्र के रघुनाथपुर गांव में पंचायत चुनाव के दो पूर्व सोमवार रात में पुलिस और मुखिया प्रत्याशी के समर्थकों के बीच झड़प एवं रोड़ेबाजी में पुलिस इंस्पेक्टर उदय बहादुर सिंह, थानाध्यक्ष राजेश कुमार सहित 9 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए, जिनका ईलाज पीएचसी में कराया गया. झड़प के दौरान थानाध्यक्ष व पुलिस कर्मियों को घंटों बंधक बनाने एवं मारपीट की खबरें भी सामने आई. घटना में पुलिस इंस्पेक्टर का सर फट गया. वो किसी तरीके से वहां से भागकर के वरिये अधिकारी को सूचना दी. घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों को मिलने पर डीएसपी मनोज कुमार रावत सहित जिले के आधादर्जन थाना की पुलिस रघुनाथपुर पहुंची. इसके बाद बंधक बनाए पुलिस कर्मियों को छुड़ाया गया. मंगलवार को एसपी आशीष भारती ने भी उक्त गांव में पैदल मार्च किया.

एसपी आशीष भारती ने बताया कि गुप्त सूचना मिली कि सोमवार की रात्रि नोखा थाना क्षेत्र के रधुनाथपुर में अपराधी विकाश कुमार सिहं उर्फ विकाश चौधरी के घर में अपराधकर्मी इकट्ठा होकर आपराधिक घटना को अंजाम देने, चुनाव को प्रभावित करने एवं मतदाता को डराने एवं धमकाने की योजना बना रहे है. उन्होंने कहा कि विकाश कुमार सिंह उर्फ विकाश चौधरी एक दुर्दात अपराधकर्मी है जिस पर लूट, डकैती, हत्या, मद्य निषेध, सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने आदि कई कांड दर्ज हैं तथा वर्तमान में वह जेल में है. उन्होंने बताया कि नोखा इंस्पेक्टर के नेतृत्व में थानाध्यक्ष नोखा थाना सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी एवं कर्मी का एक विशेष टीम को रधुनाथपुर भेजा गया, जहाँ विशेष टीम के द्वारा विकाश कुमार सिंह उर्फ विकाश चौधरी के घर पर जाकर दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया गया, लेकिन विकाश कुमार सिंह के घर के सदस्यों के द्वारा दरवाजा नहीं खोला गया.

उन्होंने बताया कि छापेमारी दल को लोहे के गेट से देखने पर पता चल रहा था कि काफी संख्या में व्यक्ति अंदर इकट्ठा हैं. छापेमारी दल किसी तरह लोहे का दरवाजा खोल कर घर के अंदर प्रवेश किया तब घर के अन्दर सभी पुरूष व महिला सदस्य मिलकर तथा आसपास के अन्य असामाजिक तत्वों के द्वारा इकट्ठा होकर विशेष दल की टीम को बंधक बना कर मारपीट किया जाने लगा. इसकी सूचना मिलने पर तुरंत एसडीपीओ सासाराम के नेतृत्व में काफी संख्या में पुलिस पदाधिकारी एवं बल को घटनास्थल पर भेजा गया, जहाँ से पुलिस दल को आते देख बंधक बनाकर मारपीट करने वाले सभी व्यक्ति भागने लगे जिस क्रम में कुल 28 व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है जिसमें से दो अपराधकर्मी बक्सर जिला के रहने वाले हैं.

एसपी ने बताया कि मारपीट के दौरान नोखा सर्किल इंस्पेक्टर, थानाध्यक्ष सहित नौ पुलिसकर्मी जख्मी हो गये. कहा कि अन्य असामाजिक तत्वों की पहचान कर गिरफ्तारी हेतु छापेमारी की जा रही है, जल्द ही घटना में शामिल अन्य अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा. एसपी ने कहा कि वर्तमान में स्थिति शांतिपूर्ण एवं नियंत्रण में है. कांड दर्ज कर अग्रतर कार्रवाई की जा रही है. इधर, ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें बेरहमी से पिटाई की. महिलाओं और बच्चों को भी पुलिस ने नहीं छोड़ा. जिसमें पूर्व मुखिया रेणु देवी, ज्योति कुमारी आदि महिलाओं के जख्मी होने की बात कही जा रही है. ग्रामीणों ने वहां लगाए गए बाइक और गाड़ी को भी पुलिस पर तोड़ने का आरोप लगाया है.

Leave a Reply