रोहतास का यह लाल इसरो में चुना गया वैज्ञानिक, खुशी से मां की आंखें हुई नम

कहते है जब किसी में हौसला हो तो वह कुछ भी कर गुजरने की क्षमता रखता है. कुछ ऐसा ही कर दिखाया है रोहतास के 22 वर्षीय अंकित गुप्ता ने. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी, त्रिवेंद्रम (केरल) में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग से बीटेक कर रहे अंकित गुप्ता का चयन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन(इसरो) में वैज्ञानिक के रूप में हुआ है.

Ad.

सासाराम शहर के तकिया निवासी स्वर्गीय अशोक गुप्ता के पुत्र अंकित ने 2016 में नेशनल पब्लिक स्कूल गोरखपुर में 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद बीटेक करने आईआईएसटी त्रिवेन्द्रम चले गए. इंजीनियरिंग करते हुए ही उसका चयन इसरो में हो गया.

इसी माह परिणाम घोषित किया गया जिसमें अंकित का चयन अंतिम रुप से इसरो के लिए कर लिया गया है. अंकित ने इस उपलब्धि का श्रेय अपनी माता को दिया है. वे हमेशा उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित ही करती रहीं. इसरो के माध्यम से वे देश की सेवा करना चाहते हैं साथ ही उनका लक्ष्य इसरो को विश्व में पहले नंबर पर बनाए रखने के लिए हरसंभव प्रयास करना होगा. अंकित के माता प्रेमलता ने अपने बेटे के बारे में बताते हुए कहा कि अंकित बचपन से ही मेघावी छात्र रहा है. आज अंकित की इस कामयावी से जिले का नाम रौशन हुआ है.

Leave a Reply