आद्रा नक्षत्र की पहली मंगलवारी पर सासाराम के महावीर मंदिर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, रोट चढ़ाने की है प्रथा

सासाराम के कुराइच में आद्रा मेले की धूम है. मंगलवार को मेले में हजारों की संख्या में नवविवाहित जोड़े समेत श्रद्धालु भगवान महावीर की पूजा करने पहुंचे. आद्रा नक्षत्र मेला में श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना कर मनोवांछित फल प्राप्ति की कामना की. सासाराम शहर के अलावे ग्रामीण इलाके से भी श्रद्धालु पहुंचे थे. मंदिर में पूजा करने वालों का सिलसिला सुबह से ही शुरू हो गया था. इस दौरान मंदिर में भजन कीर्तन का भी दौर चला.

मेला को ले मंदिर के मुख्य प्रवेश द्वार के आसपास व सड़क के दोनों तरफ काफी संख्या मे अस्थायी दुकानें भी सज गई हैं. जहां पूजा सामग्री के अलावा फूल व बच्चों के खिलौने, महिलाओं की श्रृंगार की वस्तुएं भी बिक रही हैं. मेले की खासियत है कि मंदिर परिसर में ही नई दुल्हनें भगवान महावीर को रोट बनाकर चढ़ाती हैं. 

मंदिर के पुजारी के अनुसार अदरा नक्षत्र के हर मंगलवार और शनिवार को सासाराम में दूर-दूर से आने वाले श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता हैं. समय पर वर्षा की आस में भगवान इंद्र को खुश करने के लिए मंदिर में मंगलवार और शनिवार को रोट चढ़ाया जाता हैं. साथ ही मंदिर में रोट चढ़ाने के लिए सासाराम नगर तथा आसपास के सैकड़ों गांवों की नवविवाहित बहुरिया जुटती हैं. ये रोट देसी घी में पकाए जाते हैं. नवविवाहित जोड़े सुखमय दांपत्य जीवन के लिए भगवान महावीर को रोट चढ़ाते हैं.

Leave a Reply