रोहतासगढ़ किला से होगा शाहाबाद महोत्सव का आगाज, सोन तटीय संस्कृति पर भी होगा मंथन

शाहाबाद व सोन तटीय इलाके के ऐतिहासिक, धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व को राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय पटल पर लाने के मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए शाहाबाद महोत्सव आयोजन समिति द्वारा आगामी 3, 4 एवं 5 दिसंबर को रोहतासगढ़ किला पर इस बार महोत्सव आयोजन करने का निर्णय आयोजन समिति ने लिया. इसको लेकर मंगलवार को एनीकट में सोन नद तट स्थित न्यूटिसियन सेंटर में एक बैठक आयोजित हुई. बैठक की अध्यक्षता कर रहे गोपाल नारायण सिंह विश्वविद्यालय के सचिव गोविंद नारायण सिंह ने कहा कि दो वर्ष पूर्व शाहाबाद के ऐतिहासिक, धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व को राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय पटल पर लाने और यहां पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया गया मुहिम शाहाबाद महोत्सव आयोजन समिति के बैनर तले चलाया जा रहा है और इस मुहिम के सकारात्मक परिणाम भी जल्द सामने आने की पूरी उम्मीद है. उन्होंने कहा कि अपने धरोहर को संजोकर रखना हम सबों का नैतिक दायित्व बनता है.

बैठक को संबोधित करते हुए शाहाबाद महोत्सव आयोजन समिति के संयोजक अखिलेश कुमार ने कहा कि पुराने शाहाबाद जिला में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं, सतयुग से लेकर वर्तमान आधुनिक काल तक का इतिहास स्वर्णिम रहा है. यहाँ के ऐतिहासिक तथा धार्मिक महत्व को केंद्र में रखकर आगामी दिसम्बर माह के प्रथम सप्ताह में 3, 4 एवं 5 दिसंबर को कार्यक्रम रखा गया है. 3 दिसंबर को सोन आरती होगा, जिसके मुख्य अतिथि बिहार गृह विभाग के विशेष सचिव विकास वैभव होंगे. जबकि 4 दिसंबर को सोन तटीय इलाके के ऐतिहासिक व सांस्कृतिक महत्व पर चर्चा होगी. इसमें बिहार के अलावे झारखंड तथा उत्तर प्रदेश के विशेषज्ञ भाग लेंगे. जबकि 5 दिसंबर को शाहाबाद के कला संस्कृति, नृत्य संगीत, खाद्य सामग्री का प्रदर्शन होगा. साथ ही यहाँ के महापुरुषों तथा प्रमुख स्थलों का चित्र प्रदर्शनी लगाया जाएगा.

इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में देश के विभिन्न भागों में राजनीतिक, धार्मिक, प्रशासनिक, साहित्य कला आदि के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने वाले शाहाबाद के मुल निवासी शिरकत करेंगे. बैठक में बलिराम मिश्रा, रेल मंत्रालय पीएससी के सदस्य अजय यादव, समाजिक कार्यकर्ता संजय पासवान, परमहंस सिंह, बसंत राय, पूर्व प्राचार्य मोतीलाल गुप्ता, प्रो कामेश्वर सिंह, बीरेन्द्र पासवान, मयंक उपाध्याय, बंटी सिंह,  स्यंदन सुमन,उमा शंकर पान्डेय अधिवक्ता, ललन यादव, हरेन्द्र हरियाली, यश उपाध्याय, अश्विनी कुमार, मुकेश सिंह, नौसाद अहमद, जनमेजय सिंह, जीवन प्रकाश आदि मौजूद थे. बैठक के दौरान पायलट बाबा आश्रम युवा कमिटी के सचिव रमेश कुमार उर्फ पप्पू ने अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया.

Leave a Reply