कल टीकाकरण का विशेष मेगा कैंप, रोहतास में 414 केंद्रों पर लगेगा टीका

कोरोना टीकाकरण मे लिए 31 अगस्त को पूरे बिहार राज्य में मेगा कैंप का आयोजन होगा. रोहतास जिले में इसकी व्यापक तैयारी की गई है. महाअभियान में अधिक से अधिक लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है. रोहतास जिला मुख्यालय समेत सभी प्रखंड, कस्बों में टीकाकरण की तैयारी की गई है. इसके लिए एक साथ 414 टीकाकरण केन्द्र बनाए गए हैं. महाभियान के दिन सुबह सात बजे से ही सभी साइट पर टीकाकरण शुरू किया जाएगा. जहां स्वास्थ्य कर्मियों को दोनों तरह की वैक्सीन के साथ तैनात रहने के लिए कहा गया है.

जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार के नेतृत्व में इस अभियान को शत-प्रतिशत सफल बनाने के लिए जिला स्वास्‍थ्‍य समिति, रोहतास द्वारा तैयारी की गई है. टीकाकरण महाअभियान के लिए गांव एवं शहरों में कम-कम दूरी पर टीकाकरण सत्र स्थल बनाए गए हैं. ताकि लोगों को अधिक दूर टीका लेने जाना न पड़े. पूरे जिले में 414 टीकाकरण सत्र स्थल बनाए गए हैं. जहां लोगों को टीका लगाया जाएगा. बीडीओ, हेल्थ वर्कर्स, शिक्षा विभाग, आईसीडीएस, जीविका के कर्मियों को आपस में समन्वय स्थापित कर अभियान की सफलता में लगाया गया है. शिक्षा विभाग, आईसीडीएस एवं जीविका दीदी को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई है. जिलाधिकारी ने जिलावासियों से अपील किया है कि वे अपने नजदीक के टीकाकरण सत्र स्थल पर आकर प्रथम एवं द्वितीय डोज (को-वैक्सीन/कोविशील्ड) लेना सुनिश्चित करें. ताकि कोरोना संक्रमण से जिलेवासियों को बचाया जा सके. कोरोना की लड़ाई में टीका मजबूत हथियार है.

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मानें तो इस टीकाकरण महाअभियान में को-वैक्सीन/कोविशील्ड दोनों टीका पर्याप्त संख्या में उपलब्ध है. जिन्हें को-वैक्सीन का पहला डोज लगा है, वह लगभग एक माह के अंतराल में दूसरी डोज ले लें. जिन्हें कोविशील्ड का पहला डोज लगा है, वह 3 माह/84 दिन के अंतराल पर दूसरा डोज अवश्य ले लें. आमजनों से अपील है कि वह इस टीकाकरण महाअभियान को अवसर में बदल कर इस अभियान का लाभ उठावें. स्वयं टीका लें. दूसरों को भी टीका लेने के लिए प्रेरित करें.

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा.आरकेपी साहू  ने कहा कि टीका लेने के बाद बुखार आ सकता है. इससे घबराने की जरूरत नहीं है. बुखार आना टीका के सकारात्मक प्रभाव की पहचान है. टीका लगवाने के बाद ऐसा नहीं है कि कोरोना नहीं होगा. कोरोना हो सकता है. लेकिन यह गंभीर नहीं होगा. तीसरे लहर से बचना है तो सबसे पहले अपने घर से टीकाकरण की शुरूआत करें.

Leave a Reply