रोहतास में दो नक्सली सहित सात अपराधी गिरफ्तार, हथियार भी बरामद

प्रेस कांफ्रेंस करते रोहतास एसपी आशीष भारती

रोहतास जिले में अपराधिक घटनाओं की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत दिनारा थाना क्षेत्र से सोमवार को सात अपराधियों को एक देसी पिस्टल, 13 कारतूस, चोरी की एक स्कॉर्पियो व लूट में प्रयुक्त दो बाइक के साथ गिरफ्तार किया गया है. वहीं एसएसबी व जिला पुलिस ने नौहट्टा व चेनारी थाना क्षेत्र से दो फरार उग्रवादियों को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. एसपी आशीष भारती ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में सोमवार को आयोजित प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी.

Ad.

एसपी ने बताया कि जिले के दिनारा व भानस ओपी क्षेत्र में विगत कुछ दिनों से डकैती व लूट की घटना घटित हो रही थी. उन्होंने कहा कि जिले में योगदान के बाद इन आपराधिक घटनाओं की रोकथाम व उद्भेदन के लिए एसडीपीओ बिक्रमगंज के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया. जिसमें पुलिस निरीक्षक सुबोध कुमार, दिनारा थानाध्यक्ष सम्राट सिंह, भानस थानाध्यक्ष कृपाल, एसआई सुभाष कुमार, हाकिम हासदा व अन्य का एसआइटी गठित की गई. उन्होंने बताया कि गठित टीम द्वारा बक्सर जिले के महदह गांव निवासी उपेंद्र कुमार, दिनारा निवासी सुदामा पासवान, कुमार पियूष राहुल कुमार अमित कुमार लड्डन अंसारी व राजन कुमार को गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तार अपराधियों के पास से लूट व चोरी के 10 मोबाइल, एक स्कॉर्पियो गाड़ी, पांच मोटरसाइकिल, एक देसी कट्टा, 13 जीवित कारतूस, लूटा गया एटीएम कार्ड, पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस बरामद किया गया. उन्होंने कहा कि इन अपराधियों के विरुद्ध अति शीघ्र अनुसंधान पूर्ण कराकर सजा दिलाई जाएगी. उन्होंने कहा कि एसआईटी में शामिल सभी पुलिसकर्मियों को प्रोत्साहित करने के लिए पुरस्कृत किया जाएगा.

वहीं, जिले के तीन थानों में वांटेड फरार उग्रवादी सज्जन राय उर्फ मोदीजी समेत दो नक्सलियों को एसएसबी व जिला पुलिस ने चेनारी व नौहट्टा क्षेत्र से गिरफ्तार किया है. पुलिस ने रविवार की रात कैमूर पहाड़ी की तराई में स्थित मां पनियारी देवी पावर सब स्टेशन के समीप से गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार नक्सली नेता पिठीयाव गांव निवासी बताया जाता है. सोमवार की दोपहर अपने कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान एसपी आशीष भारती ने बताया कि गिरफ्तार सज्जन राय उर्फ मोदी पर चेनारी, दरिगांव व तिलौथू थाना में हत्या, लूट, रंगदारी, आर्म्स एक्ट आदि की प्राथमिकी पूर्व से दर्ज थी. वर्ष 2005 में गांव के ही चौकीदार के परिवार की एक सदस्य के हत्या के बाद वह अपराध की दुनिया में कदम रखा. बाद में नक्सलियों के सांठगांठ में शामिल होकर लेवी वसूली का काम करने लगा. दरिगांव थाना में नक्सली विस्फोट, चेनारी थाना के डोईया गांव में गोलीबारी के अलावे, तिलौथू थाना में भी दो मामले दर्ज है. पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी, कि उक्त अपराधी हथियार के साथ कैमूर पहाड़ी की तराई में स्थित पावर सब स्टेशन के पास किसी अपराध की रणनीति बना रहा है. पुलिस ने छापेमारी की इससे पहले दो लोग आर्म्स से लेकर जंगल में फरार हो गए थे. जबकि उक्त नक्सली की गिरफ्तारी की गई है.

साथ ही नीमहत गांव में छापामारी करके हार्डकोर नक्सली संजय पासवान को गिरफ्तार किया गया है. सूत्रों की मानें तो संजय नौहट्टा, चुटिया व तिलौथू के अलावा अधौरा (कैमूर) थाना क्षेत्र की नक्सली घटनाओं में शामिल था. वर्ष 2003 में नौहट्टा थाना पर हमला, डबुआ मोड़ विस्फोट में ग्यारह पुलिसकर्मियों की हत्या, नौहट्टा बाजार में टीपा के लोगो पर हमला, रामबचन सिंह हत्याकांड, इंसपेक्टर काशीनाथ शर्मा हत्याकांड, एसपी मनु महाराज पर हमला जैसी घटनाओं में इसकी संलिप्तता रही है. यह वर्ष 2011 में तत्कालीन एसपी मनु महाराज के डर से दूसरे राज्य में जाकर मजदूरी करता था. नक्सलियों का प्रभाव जब कम हुआ तो अपने घर नीमहत आकर रहने लगा था.

Leave a Reply