रोहतास में 103 साल के बुजुर्ग के हौसले से हार गया कोरोना, ऐसे कोरोना को मात दे पहुंचे अपने घर

हरिनारायण सिंह

रोहतास जिले के जमुहार स्थित नारायण चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल में रविवार का दिन खास रहा, जब सासाराम निवासी 103 वर्षीय बुजुर्ग जो संक्रमित होने के बाद यहां भर्ती थे. स्वस्थ होकर घर गए. इस दौरान मौजूद स्वास्थ्यकर्मियों ने ताली बजाकर उनका अभिवादन किया. बिहार विधान परिषद् के पूर्व सदस्य कृष्ण कुमार सिंह के पिताजी हरिनारायण सिंह आज से नौ दिन पहले रिपोर्ट पॉजिटिव आया तो तब परिवार वाले भी घबरा गए. ऑक्सीजन लेवल 60 के आसपास पहुंच चुका था. आनन-फानन में जमुहार स्थित नारायण चिकित्सा महाविद्यालय व अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया और आज पूर्णतः स्वस्थ होकर वे घर वापस लौटे हैं.

अस्पताल से घर लौटते ही हरिनारायण सिंह ने मजाकिया अंदाज में कहा कि ‘हम तो समझते थे कि कोरोना हमारा घंटी बजा देगा, लेकिन नारायण मेडिकल कॉलेज की सराहनीय चिकित्सा व्यवस्था तथा प्रकृति के संयमित जीवन शैली ने हमें पुनः घर लौटा दिया. उन्होंने कहा कि इलाज के दौरान खुद को कमजोर नहीं पड़ने दिया. अस्पताल में डॉक्टर के बताए कोरोना उपचार के नियमों का पालन किया. घर पहुंचने के बाद सबसे पहले दाढ़ी बनवाया और वे पुराने दिनचर्या में लग गये और अपनों का भी हौंसला बढ़ा रहे हैं.

आजकल नौजवान हों या बुजुर्ग, सभी कोरोना वायरस के आगे बेबस नजर आ रहे हैं. ऐसे माहौल में कोरोना को मात देने वाले हरिनारायण सिंह के बुलंद हौसले को सभी प्रणाम कर रहे हैं. बताया जाता है कि साधन सम्पन्न परिवार के मुखिया होने के बावजूद हरिनारायण सिंह कभी भी विलासिता के जीवन को पसंद नहीं किये. यहां तक कि जब गाड़ी से चलते हैं तो उसका एसी तक बंद करा देते हैं. प्रकृति के साथ जीवन शैली को ढालना वो अपने स्वास्थ्य जीवन का राज मानते हैं.

Ad.

Leave a Reply