बिहार के शहरों में खुलेंगे दो हजार कामन सर्विस सेंटर, महिलाएं करेंगी संचालन

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार के शहरी निकायों में अगले दो सालों में लगभग दो हजार कामन सर्विस सेंटर (सीएससी) खोले जाएंगे. इसका संचालन शहरी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं करेंगी. जिन्हें डिजी सखी के नाम से पुकारा जाएगा. दसवीं पास महिलाओं के समूह को प्रशिक्षित कर उन्हें कॉमन सर्विस सेंटर के संचालन की जिम्‍मेदारी दी जाएगी. यह समूह वार्ड वाइज लोगों को कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराएंगी. इसको लेकर नगर विकास एवं आवास विभाग ने सीएससी ई गवर्नेन्स सर्विस इंडिया लिमिटेड के बीच करार हुआ.

शहरी स्वयं सहायता समूहों की महिलाएं अब डिजी पे सखी बन कर वार्ड स्तर पर रहने वाले दिव्यांग, वृद्ध, असहाय महिला-पुरुषों के साथ-साथ खाताधारकों का पैसा बायोमेट्रिक से निकालने का कार्य करेंगी. इसके अलावे सीएससी की सेवाएं जैसे विभिन्न तरह के सरकारी प्रमाण-पत्रों के आवेदन, बैंकिंग एवं वित्तीय सेवाएं, विभिन्न कम्पनी की बीमा, पेंशन एवं सामाजिक सुरक्षा स्कीम के आवेदन, पैन एवं आधार कार्ड, बिजली बिल, गैस बुकिंग, ट्रेन टिकट, स्वास्थ्य सेवा आदि सुविधाएं भी मुहैया कराई जाएंगी. इसके साथ स्वयं सहायता समूहों के द्वारा बनाये गए उत्पाद को भी सीएससी के माध्यम से ऑनलाइन ई कामर्स वेबसाइट पर बिजनेस प्लेटफार्म उपलब्ध कराई जाएगी.

Leave a Reply