बिहार में सार्वजनिक स्थलों पर होली मिलन समारोह पर रोक, स्कूल बंद करने पर भी हो रहा विचार

फाइल फोटो

देश के अलग-अलग हिस्सों में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए बिहार सरकार फिर अलर्ट मोड में आ गई है. सोमवार को मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह की अध्यक्षता में हुई क्राइसिस मैनजमेंट ग्रुप की बैठक में कोरोना के मामले बढ़ने की आशंका को देखते हुए सार्वजनिक स्थानों पर होली मिलन समारोह करने पर पूरी तरह से रोक लगाने का फैसला किया गया. घरों में होली मिलन पर रोक नहीं रहेगी, लेकिन सरकार ने लोगों से एहतियात बरतने की अपील की है.

बैठक के जरिए मुख्य सचिव ने सभी जिलों के डीएम व सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि वे सार्वजनिक स्थल पर होली मिलन समारोह की अनुमति नहीं देंगे. डीएम को अपने-अपने क्षेत्र में कोविड केयर सेंटरों का मुआयना कर उनकी स्थिति आकलन कर दोबारा सक्रिय करने को कहा गया है. वहीं, होली के मौके पर महाराष्ट्र, पंजाब और केरल जैसे राज्यों में बड़ी संख्या में रहने वाले बिहार के लोग अपने घर लौटेंगे. सोमवार की बैठक में सरकार ने यह निर्णय भी लिया है कि केरल, पंजाब और महाराष्ट्र से आने वाले लोगों को अपनी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट दिखानी होगी. यह व्यवस्था एयरपोर्ट के साथ ही रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों पर भी यही व्यवस्था लागू रहेगी. जिसके पास कोरोना जांच की रिपोर्ट नहीं होगी, उनका कोरोना टेस्ट यहीं किया जाएगा. यदि जांच में यात्री पॉजिटिव पाए जाएंगे तो उन्हें होम आइसोलेशन में रहना होगा. बड़ी संख्या में जांच कराए जाने की संभावना को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग को आरटीपीसीआर के साथ एंटीजन टेस्ट की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं.

राजधानी पटना में एक बार फिर से कंटेनमेंट जोन बनाने का निर्णय लिया गया है. पटना में 56 जगहों पर माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए जाएंगे. स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी गई सक्रिय मरीजों की सूचि के आधार पर इसे बनाया जाएगा. संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी को माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने की जिम्मेवारी दी गई है. माइक्रो कंटेनमेंट जोन छोटे स्तर पर होगा. दो या चार घरों को मिलाकर एक माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा. माइक्रो कंटेनमेंट जोन उसी इलाके में बनाए जाएंगे, जहां कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं.

वहीं, प्रदेश के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को भी बंद किए जाने पर विचार किया जा रहा है. सूत्रों ने बताया कि मंगलवार को स्कूलों को बंद करने की बैठक संभावित है. बैठक में अंतिम रूप से सहमति बनने पर 22 मार्च से स्कूल बंद किए जा सकते हैं. क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की अगली बैठक एक सप्ताह बाद होगी, जिसमें पूरी स्थिति की समीक्षा की जाएगी.

Ad.

Leave a Reply