सीआरपीएफ ने रोहतास के पहाड़ी गांवों में की स्क्रीनिंग, घरों को किया सैनिटाइज

जिले के नौहट्टा एवं रोहतास प्रखंड के कैमूर पहाड़ी पर बसे गांव में लॉकडाउन का पालन कराने के लिए सीआरपीएफ 47 वीं बटालियन की दो कंपनी जिला पुलिस के सहयोग में कार्य कर रही हैं. इसके साथ-साथ सीआरपीएफ द्वारा ‘सिविक एक्शन प्रोग्राम’ के तहत अभियान चला गरीब आदिवासी परिवारों के बीच खाद्य सामग्री समेत सैनिटाइजर, साबुन आदि का भी वितरण किया जा रहा है. साथ ही शनिवार व रविवार को साढ़े छह सौ लोगों की थर्मल स्क्रीनिग भी की गई एवं गांव में स्थित घरों को सैनिटाइज भी किया गया.

बता दें कि इन सुदूर प्रखंडों में मध्यप्रदेश महाराष्ट्र तेलंगाना से वहां कार्य करने वाले इस क्षेत्र के सैकड़ों मजदूर अपने गांव आए हैं, जो अपने परिजनों के साथ घर में ही रह रहे है. सभी लोगो की चिकित्सीय जांच भी नहीं हो सकी है. सीआरपीएफ 47 वीं बटालियन के सी कंपनी कैंप तियराकला के सहायक समादेष्टा सुभाषचंद्र झा ने बताया कि सीआरपीएफ केवल नक्सलियों के विरुद्ध लड़ाई नहीं लड़ती, बल्कि आम जनमानस के दुख सुख में भी शामिल रहते हुए उनकी समस्याओं का समाधान भी करती है. इसी क्रम में सिविक एक्शन कार्यक्रम के तहत क्षेत्र के कैमूर पहाड़ी से सटे आदिवासी बाहुल्य सुअरमनवा, जारादाग ,बेल्दुरिया, यदुनाथपुर, तियरा खूर्द समेत कई गांवों में ग्रामीणों के बीच खाद्य सामग्री के अलावा मास्क, सैनिटाइजर, साबुन का भी वितरण किया जा रहा है. साथ ही लोगों की थर्मल स्क्रीनिग भी की जा रही है, ताकि कोरोना वायरस का संदेह दूर किया जा सके. ग्रामीणों को ध्वनि विस्तारक यंत्र से समझाया भी जा रहा है कि लॉकडाउन का पूर्णत पालन करें. अनावश्यक घर से बाहर न निकले. जान है तो जहान है , इसलिए जान की सुरक्षा कीजिए.

गाँव को सैनिटाइज करते सीआरपीएफ जवान

वहीं सीआरपीएफ कैंप बंजारी के सहायक समादेष्टा प्रभात कुमार पांडेय के नेतृत्व में रोहतास प्रखंड के सतगलिया, माघा, तारडीह समेत आधा दर्जन गांवों में जाकर सामग्री का वितरण किया गया. साथ ही थर्मल स्क्रीनिग भी की जा रही है. इनके साथ यदुनाथपुर के थानाध्यक्ष श्याम बिहारी सिंह, रोहतास थानाध्यक्ष सम्राट सिंह समेत सीआरपीएफ एवं जिला पुलिस बल के जवान उपस्थित थे.

जिला प्रशासन द्वारा कैमूर पहाड़ी के गाँव में खाद्य सामग्री का वितरण

वहीं कैमूर पहाड़ी पर स्थित रोहतासगढ़ एवं पीपरडीह पंचायत के कई गांवों में अनुमंडलाधिकारी लाल ज्योतिनाथ शाहदेव की अगुवाई में अधिकारियों ने शनिवार को आधी रात तक लोगों को जागरूक किया. इस दौरान हरैयाडीह, सलमा, हुरमेठा, लौडी बजरमरवा, मदेया, चेरो टोला आदि गांव में अधिकारी ग्रामीणों से संपर्क कर जागरूक किया. उन्होंने राशन की शिकायत को सुना. प्रशासन ने खाद्य सामग्री ग्रामीणों में दी. गांव में फिलहाल किसी व्यक्ति के बाहर से आने की जानकारी नहीं है. ग्रामीणों ने प्रशासन को सहयोग करने का वादा किया. मौके पर अभियान एसपी दुर्गेश कुमार, बैजू मिश्रा, अमित पांडेय, कृपाशंकर साह, ब्रजबिहारी कुमार, श्याम नारायण उरांव आदि सहित काफी संख्या में जवान थे.

रिपोर्ट: मुकेश पाठक

Leave a Reply