पहल ने इस पहाड़ी गांव में लगाया चिकित्सा शिविर, आदिवासी बच्चों के साथ वनभोज का भी हुआ आयोजन

झारखंड तथा उत्तर प्रदेश के सीमा पर अवस्थित दूरवर्ती पहाड़ और जंगलों के बीच बसे रोहतास जिले के नौहट्टा प्रखंड के डुमरखोह गांव में वर्ष 2018 के अंतिम दिन वनभोज का आयोजन किया गया. यह आयोजन सामाजिक संस्था ‘पहल’ के अध्यक्ष अखिलेश कुमार के द्वारा किया गया, जहां आदिवासी और जनजातिय बच्चों के साथ लोगों ने लिट्टी चोखा खाया. इस दौरान पाठ्य सामग्री के साथ-साथ अखिलेश कुमार ने बच्चों के बीच टॉफी, खेलकूद के समान आदि वितरित कर उन्हें शिक्षा के प्रति उन्मुख करने का प्रयास किया. 

जंगल और पहाड़ी के बीच सोन नद के तट पर अवस्थित इस गांव में गरीब और जरूरतमंद बच्चों के साथ पंगत में बैठकर वन भोज का आयोजन के द्वारा सामाजिक समरसता सहयोग की भावना को बढ़ावा देने तथा हीन भावना को समाप्त करने का प्रयास किया गया. इस दौरान डेहरी से आए डॉ अभय कुमार राय ने सभी बच्चों का स्वास्थ्य जांच किए और बच्चों के साथ ही साथ ग्रामीणों का भी उपचार किया गया, जहां आवश्यकतानुसार मुफ्त दवाइयां भी दी गयी. 

पहाड़ी गांव में पहल द्वारा आयोजित जाँच शिविर

एक तरफ जहां थर्टी फर्स्ट मनाने के लिए लोग बड़ी-बड़ी पार्टियां करते हैं, चकाचौंध की माहौल में जाते हैं वही दुसरी तरफ मूलभूत सुविधाओं से वंचित सुविधा विहीन इस तरह के बच्चों के बीच जाकर वनभोज का आयोजन कर समाज में सकारात्मक संदेश देने का काम किया गया है.

Ad.
ReplyForward

Leave a Reply