सासाराम में गुरु गोबिंद सिंह के प्रकाश पर्व पर निकला भव्य नगर कीर्तन, गुरुवाणी से गूंज उठा शहर

गुरु गोबिंद सिंह जी महाराज के 354 वें प्रकाश पर्व पर शुक्रवार को सासाराम शहर में भव्य नगर कीर्तन निकाला गया. गुरूद्वारा टकसाल संगत से निकले नगर कीर्तन में हाथी, घोड़े, ऊंट आदि शामिल थे. नगर कीर्तन में शामिल लोगों ने एक से बढ़कर एक करतब भी दिखाए. सेवादार रास्ते भर सफाई व पानी से धुलाई कर पुष्पवर्षा करते रहे. सिक्ख धर्म की परंपरानुरूप पंच प्यारे गुरुग्रंथ साहिब की पालकी वाहन की अगुवाई कर रहे थे.

Ad.

इस दौरान नगर कीर्तन का जगह-जगह स्वागत किया गया. कई जगह स्टाल लगाये गए थे. जहां नि:शुल्क खाद्य व पेय सामग्री का वितरण किया गया. वाहे गुरू के जयघोष से शहर का माहौल भक्तिमय हो गया था.

This image has an empty alt attribute; its file name is 350th-prakash-parv-sasaram-4-1024x734.jpg

भव्य नगर कीर्तन टकसाल संगत गुरूद्वारा से निकल कर शहर के सभी प्रमुख मार्गों का भ्रमण किया. हालांकि इस दौरान पुरानी जीटी रोड पर कुछ समय के लिए जाम लग गयी. नगर कीर्तन में हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया. खास बात यह थी यात्रा में शामिल महिलाएं गुरू जी की महिमा मंडन करते हुए गीत गा रही थी.

नगर कीर्तन में नन्हे मुन्ने बच्चों की एक अलग टोली गुरु के गुणगान में लगाई गई थी. विदित हो कि गुरू गोविंद सिंह जी महाराज के 354 वें प्रकाश पर्व पर गुरूद्वारा टकसाल संघत में 16 जनवरी से कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं.

इस दौरान प्रभात फेरी, अखंड पाठ, विशेष दीवान के अलावा कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किये गए. अंतिम दिन छात्र-छाया व पंज प्यारे साहिबान की अगुआई में झुलते निशान साहिब के साथ शबद कीर्तन, बैंड-बाजे, ढोल-नगाड़े, गतका-अखाड़े, हाथी-घोड़े के साथ आकर्षक झाकियां निकाली गई.

This image has an empty alt attribute; its file name is 350th-prakash-parv-sasaram-3-1024x768.jpg
Ad.

Leave a Reply