लोकोत्सव के रूप में मनेगा रोहतास का 50वां स्थापना दिवस, डीएम ने बैठक में दिए कई निर्देश

रोहतास जिले का 50 वां स्थापना दिवस लोकोत्सव के रूप में धूमधाम से दो दिन मनाया जाएगा. स्थापना दिवस समारोह से आम जन, सामाजिक, सांस्कृतिक, व्यापारिक आदि संगठनों एवं विद्यार्थियों को जोड़ा जाएगा. इसे लेकर सासाराम स्थित समाहरणालय के संवाद कक्ष में सोमवार को डीएम धर्मेंद्र ने बैठक की. बैठक में जिले के स्थापना दिवस को लोकोत्सव के रूप में मनाने के लिए कई प्रस्तावों पर चर्चा की गई.

ज्ञात हो कि 10 नवंबर 1972 शहाबाद से कट रोहतास अलग जिला बना था. तभी से 10 नवंबर 1972 को जिला स्थापना दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस वर्ष रोहतास जिला का स्थापना का 50 वर्ष को देखते हुए उसके अनुरूप ही एक अनूठे और विशेष अंदाज में मनाने का निर्देश डीएम ने सभी संबंधित को दिया. बैठक में डीएम ने कहा कि जिला प्रशासन की ओर से जिला स्थापना दिवस से संबंधित बैनर लगाए जाएंगे. साथ ही, जिले के गौरवशाली इतिहास और वर्तमान की उपलब्धियों को प्रदर्शित करता करता हुआ पुस्तिकाएं तथा नुक्कड़ नाटक कराया जायेगा.

न्यू फजलगंज स्टेडियम में सभी विभागों के द्वारा अपने-अपने विभाग से संबंधित विकासात्मक कार्य एवं चलाई जा रही योजनाओं से संबंधित स्टॉल प्रदर्शनी आदि फजलगंज स्टेडियम में लगाया जाएगा. डीएम ने कहा कि फजलगंज स्थित मल्टीपर्पस हॉल में जिलास्तरीय क्विज प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता तथा स्टेडियम में छात्र-छात्राओं का जिलास्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता आदि के आयोजन संबंधी निर्देश संबंधित पदाधिकारियों को दिया. इस अवसर पर रोहतास जिले के अतीत एवं वर्तमान की उपलब्धियों एवं भविष्य की संभावनाओं को रेखांकित करता हुआ एक कॉफी टेबल बुक को लॉच किया जायेगा. उक्त कॉफी टेबल बुक के संयोजन एवं प्रकाशन का दायित्व डीडीसी को दिया गया है.

डीएम ने कहा कि इस वर्ष स्थापना दिवस के अवसर पर वैसे सभी लोगों को आमंत्रित किया जाएगा, जिनके कारण जिले के बाहर लोग रोहतास जिला को जानते हैं. वैसे व्यक्ति जो किसी क्षेत्र में उपलब्धि हासिल कर चुके हैं तथा अपने सम्यक ज्ञान एवं अनुभव से जिले को मार्ग दिखाना चाहते हो, जैसे विभिन्न खेलों के खिलाड़ी, साहित्यकार, वैज्ञानिक, उद्योगपति इत्यादि आमंत्रित करने का निर्णय लिया गया है. साथ ही उन सभी व्यक्तियों को सम्मानित किया जाएगा तथा उनके अनुभव का प्रयोग करते हुए जिले को नए मुकाम तक ले जाया जाएगा. इस संबंध में प्रभारी पदाधिकारी जिला सामान्य शाखा को निर्देश दिया गया कि उक्त सभी बिंदुओं के लिए एक समिति का गठन करना सुनिश्चित करेंगे.

डीएम ने कहा कि इस वर्ष स्थापना दिवस के अवसर पर वीडियोग्राफी एवं स्मारिका पत्रिका को तैयार किए जाने का निर्णय लिया गया है. उन्होंने कहा कि रोहतास जिला का समृद्ध एवं गौरवशाली अतीत रहा है. बिहार में पर्यटन के दृष्टिकोण से काफी समृद्ध रोहतास जिला के एतिहासिक, सांस्कृतिक, सामाजिक, आर्थिक, धार्मिक आदि विभिन्न विषयों के अनछुए पहलुओं पर जानेमाने इतिहासविदो, विद्वतजनों, साहित्यकारों के आलेख के स्मारिका में समाहित किया जायेगा. साथ ही जिले के सभी विकास कार्यों का उल्लेख किया जाएगा तथा जिले में उपलब्ध संभावनाओं पर फोकस किया जाएगा.

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन को संपन्न कराने हेतु अपर समाहर्ता तथा अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है तथा उस के माध्यम से जिले में कला संस्कृति के क्षेत्र में भी एक विकासात्मक आयाम देने संबंधी निर्णय लिया जाएगा. बैठक में सभी उपस्थित पदाधिकारी से स्थापना दिवस को आकर्षक बनाने हेतु सुझाव आमंत्रित किए गए हैं और इस संबंध में पुनः एक बैठक का आयोजन किया जाने संबंधी निर्देश दिया गया है. जिसमें एसपी आशीष भारती भी उपस्थित रहेंगे. उक्त बैठक में डीडीसी शेखर आनंद, डीएफओ मनीष कुमार वर्मा, अपर समाहर्ता चन्द्रशेखर प्रसाद सिंह, वरीय उप समाहर्ता चेतनारायण राय, तीनों अनुमंडल पदाधिकारी, डीपीआरओ प्रवीण चंदन समेत जिलास्तरीय सभी पदाधिकारी मौजूद थे.

Leave a Reply