रोहतास डीएम ने अफसरों की टीम के साथ दिनारा में जानी योजनाओं की हकीकत, नल-जल में गड़बड़ी को देख खुद टंकी पर चढ़ गए डीएम; बीडीओ व पीओ समेत पांच पर कार्रवाई

रोहतास के डीएम धर्मेंद्र कुमार की अगुवाई में जिला स्तरीय जांच टीम ने बुधवार को दिनारा प्रखंड के विभिन्न गांवों का दौरा किया. इसके तहत प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, मुख्यमंत्री पेयजल निश्चय योजना, मनरेगा विभाग अंतर्गत संचालित योजनाएं, सामुदायिक स्वच्छता परिसर, जन वितरण प्रणाली दुकानों, आंगनवाड़ी केंद्र आदि योजनाओं की गहन जांच की.

जांच के दौरान डीएम स्‍वयं हरिवंशपुर पंचायत के वार्ड संख्या 15 में पहुंच गए. इस दौरान नल-जल योजना में गड़बड़ी व टंकी से रिसाव की मिली शिकायत पर वे लगभग 30 फीट ऊंची पानी टंकी पर तपती दोपहर में लोहे की सीढ़ी से चढ़ गए. अचानक पानी टंकी पर चढ़ते देख उनके साथ मौजूद सुरक्षाकर्मी व अन्य अधिकारी भी दंग रह गए. नीचे उतरने पर ही उन्होंने वहां उपस्थित ग्रामीणों की शिकायतें सुनी. इसके बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दिनारा का निरीक्षण किया.

जांच के बाद प्रखंड कार्यालय में डीएम ने सभी जिला स्तरीय जांच टीम के साथ समीक्षा की. योजनाओं में मिली गड़बड़ी पर बीडीओ, सीडीपीओ से लेकर विभिन्न विभागों में कार्यरत दो दर्जन से अधिक कर्मियों के वेतन निकासी पर रोक लगा दी है. डीएम ने कहा कि निरीक्षण के क्रम में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी पाई गई है. हरिवंशपुर में नल-जल योजना के तहत लगाई गई पानी टंकी में लगातार रिसाव पाया गया. कार्य की गुणवत्ता भी सही नहीं पाई गई. इसपर विभागीय अधिकारी से लेकर वार्ड क्रियान्वयन व प्रबंध समिति तथा कार्य एजेंसी पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है.

उन्होंने कहा कि समीक्षा क्रम में कई योजनाओं में आमजनों से शिकायतें प्राप्त हुई है. इस मामले में प्रखंड विकास पदाधिकारी, मनरेगा के कार्यक्रम पदाधिकारी, प्रखंड समन्वयक एवं एनएसबीए का वेतन भुगतान पर रोक लगाते हुए स्प्ष्टीकरण पूछा गया है. जवाब संतोषजनक नहीं मिलने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. डीएम ने जांच के क्रम में फरार पीडीएस दुकानदारों पर करवाई करने का भी निर्देश दिया. कई आंगनबाड़ी केंद्रों पर गड़बड़ी की शिकायत सामने आई है. कहा कि विस्तृत जांच प्रतिवेदन जिला गोपनीय शाखा में प्राप्त होने के उपरांत सभी संबंधितओं के विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

Leave a Reply