रोहतास में पहले चरण में 40 पंचायतों के हर घर में सूखा व गीला कचरा के लिए मिलेगा डस्टबिन

रोहतास जिला मुख्यालय सासाराम स्थित कलेक्ट्रेट के डीआरडीए सभा भवन में शुक्रवार को डीएम धर्मेन्द्र कुमार की अध्यक्षता में सात निश्चय पार्ट-2 योजना के तहत लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान(एलएसबीए) की प्रशिक्षण सह शंका समाधान बैठक की गई. जिसमें लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत जिले के 229 पंचायतों में से 60 पंचायतों का चयन किया गया है. इसमें प्रथम चरण में 40 तथा 20 पंचायत दूसरे चरण में लिए जाएंगे.

प्रत्येक चयनित पंचायतों में सभी घरों को एक हरा एवं एक नीला डस्टबीन उपलब्ध कराया जाएगा. साथ ही सामुदायिक उपयोग के लिए एक बड़ा डस्टबीन उपलब्ध कराया जाएगा. जहां सामुदायिक स्तर पर कूड़े की डंपिंग होगी. सामुदायिक डंपिंग स्थल पर सूखे तथा गीले कचरे की डंपिंग पैडल वाले रिक्शा से होगी. वहीं डंपिंग वाले स्थान से वेस्ट प्रोसेसिंग यूनिट तक कचरा पहुंचाने के लिए ई-रिक्शा का प्रोविजन किया गया है.

लोहिया स्वच्छ भारत अभियान-2 के तहत पूर्व में ही प्रत्येक वार्ड में एक स्वच्छता कर्मी तथा प्रत्येक पंचायत स्तर पर एक स्वच्छता पर्यवेक्षक की नियुक्ति की जा चुकी है. साथ ही, ग्रामीण नालियों को अंडर ग्राउंड स्तर पर जोड़ने हेतु सोक-पिट्स बनाने का भी प्रोविजन है. उक्त सभी कार्य के लिए पंचायत को राशि आवंटित कर दी गई है. 70% राशि स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत और 30% राशि 15 वे वित्त के माध्यम से आवंटित की गई है.

डीएम ने कहा कि जिस प्रकार से नगरीय कचरा प्रबंधन और साफ-सफाई के सेट प्रोटोकोल्स और मानदंड हैं, उसी प्रकार से अथवा उनसे भी बेहतर ढ़ंग से ग्रामीण इलाकों में भी स्वच्छता के नए मानदंड स्थापित किए जाने है. जिसके सफल क्रियान्वयन में चयनित जन प्रतिनिधियों को महती भूमिका निभानी है. उन्होंने कहा कि सभी मुखिया एवं जनप्रतिनिधियों की सक्रिय सहभागिता ही इस स्वच्छता योजना को सफल बनाएंगे. बैठक में डीडीसी शेखर आनंद, निदेशक डीआरडीए मुमताज़ आलम, संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रथम चरण के सभी 40 पंचायतों के मुखिया इत्यादि मौजूद थे.

Leave a Reply