रोहतास का पहला स्कूल, जो इंटरनेशनल रोबोटिक चैम्पियनशिप में लिया भाग

अब तक होटल, रेस्त्रां और अस्पताल आदि में रोबोट की मदद से काम को आसान बनाने के बारे में चर्चाएं होती थीं, लेकिन अब रोहतास के स्कूली बच्चों ने भी इसमें कदम बढ़ाया हैं. इंटरनेशनल रोबोटिक्स चैंपियनशिप के छठे संस्करण में जिले के जमुहार स्थित नारायण वर्ल्ड स्कूल के बच्चों ने भी भाग लिया हैं. ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ रोबोटिक्स एंड ऑटोमेशन ने नारायण वर्ल्ड स्कूल जमुहार के बाल वैज्ञानिकों को स्थानीय, राज्य व राष्ट्रीय प्रतियोगिता में शामिल होने के बजाय अब सीधे इंटरनेशनल रोबोटिक चैम्पियनशिप में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने का मौका दिया है.

यह पहली बार हो रहा है जब ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ रोबोटिक्स एंड ऑटोमेशन ने जिले के किसी स्कूल के बाल वैज्ञानिकों को इस तरह की सुविधा से नवाजा है. चैंपियनशिप का आयोजन दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में आयोजित किया गया है, जो इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार, डिजिटल इंडिया, राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिवीजन और अखिल भारतीय रोबोटिक्स परिषद द्वारा प्रायोजित है. बता दें कि वर्ल्ड रोबोटिक्स चैंपियनशिप दिल्ली में 21 से 24 अगस्त के बीच हो रही है. इस चैंपियनशिप में 53 देशों की टीमें भाग ली हैं.

गोपाल नारायण सिंह विश्वविद्यालय के सचिव गोविंद नारायण सिंह ने कहा कि ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ रोबोटिक्स एंड ऑटोमेशन द्वारा नारायण वर्ल्ड स्कूल के बाल वैज्ञानिकों को सीधे इंटरनेशनल रोबोटिक चैम्पिनशिप में शामिल होना जिले के लिए खुशी की बात हैं. दुनियाभर से आए बाल वैज्ञानिकों के बीच नारायण वर्ल्ड स्कूल के बच्चों को प्रतिभा दिखाने का मौका मिला है. कहा कि इस चैम्पिनशिप का मकसद मेक इन इंडिया की अवधारणा को बढ़ावा देना है. उन्होंने बताया कि नारायण वर्ल्ड स्कूल में दो वर्ष से रोबोटिक्स टेक्नोलॉजी की पढ़ाई हो रही है.

Leave a Reply