सासाराम सदर पीएचसी के सभी डॉक्टर व कर्मियों के वेतन पर रोक, कई एमओआईसी के वेतन पर भी रोक; लापरवाही बरतने पर डीएम ने की कार्रवाई

रोहतास जिला मुख्यालय सासाराम स्थित समाहरणालय के संवाद कक्ष में डीएम धर्मेन्द्र कुमार द्वारा सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक कर कई निर्देश दिए गए। बैठक में डीएम ने लापरवाह एवं शिथिल चिकित्सकों व कर्मियों पर कार्रवाई करते हुए MO/IC संझौली, MO/IC सासाराम तथा MO/IC सूर्यपूरा का एवं बीएचएम संझौली का एक दिन का वेतन स्थगित करने का निर्देश सिविल सर्जन को दिया। इन सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर संस्थागत प्रसव की संख्या काफी कम पाई गयी।

बैठक में डीएम ने अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र दरिगांव (सासाराम सदर पीएचसी) के सभी चिकित्सकों, कर्मियों व एएनएम का वेतन अगले आदेश तक स्थगित करने का निर्देश सिविल सर्जन को दिया। ज्ञात है कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र दरिगांव में संस्थागत प्रसव की शुरूआत भी नहीं की सकी है। डीएम ने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि जिले के सभी 158 हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर को अविलम्ब क्रियाशील बनाना सुनिश्चित करें।

डीएम ने स्वास्थ्य विभाग के सभी कर्मियों को ससमय अपने कार्यस्थल पर उपस्थित होने का निर्देश दिया। डीएम ने संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने तथा इस निमित हर संभव प्रयास करने का निर्देश दिया। डीएम ने सभी चिकित्सकों को निर्देश दिया कि हर परिस्थिति में ओपीडी निर्धारित समय तक एवं तत्परतापूर्वक चलाया जाए। उन्होंने प्रत्येक चिकित्सक को एक आलोच्य माह में कम से कम पांच सौ रोगियों को चिकित्सीय परामर्श देने का निर्देश दिया और सिविल सर्जन को इस लक्ष्य की सतत् मोनिटरिंग का निर्देश दिया। उन्होंने एमएसभी ऑपरेशन की संख्या बढ़ाने तथा बंध्याकरण आदि के ऑपरेशन में भी अपेक्षित वृद्धि का निर्देश दिया।

डीएम ने प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में एम्बुलेंस की उपलब्धता की भी समीक्षा की। उन्होंने ब्लड बैंकों में रक्त की उपलब्धता की समीक्षा की तथा पर्याप्त मात्रा में ब्लड यूनिट्स उपलब्ध रखने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने आसन्न फाईलेरिया पखवाड़े तथा दस्त पखवाड़े के सफलतापूर्वक आयोजन के लिए सभी आवश्यक तैयारियां समय पर पूर्ण करने का निर्देश सिविल सर्जन को दिया। बैठक में डीडीसी शेखर आनंद, सिविल सर्जन, एसीएमओ, वरीय कोषागार पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के प्रभारी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply