रोहतास में फर्जी सर्टिफिकेट पर नौकरी कर रहे 142 शिक्षकों की सेवा होगी समाप्त, जांच में किए गए हैं चिन्हित

रोहतास जिले में गलत प्रमाणपत्र के आधार पर नौकरी कर रहे 142 शिक्षकों की नौकरी जाएगी. डीएम के धर्मेंद्र कुमार के निर्देश के आलोक में डीडीसी शेखर आनंद की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित संवाद कक्ष में अमान्य संस्था के प्रमाणपत्रों के आधार पर चिन्हित शिक्षकों के ऊपर कार्रवाई करने के संबंध में बैठक की गई. बैठक में डीपीओ स्थापना शिक्षा विभाग, बीडीओ, प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी, पंचायत सचिव आदि शामिल हुए.

डीडीसी ने बताया कि अमान्य संस्था के प्रमाण-पत्रों के आधार पर रोहतास जिला में अभी तक कुल 142 शिक्षकों को चिन्हित किया गया है. जिनकी सेवा समाप्ति को लेकर डीएम द्वारा डीईओ को आदेश दिया गया है. जिसके बाद जिला शिक्षा पदाधिकारी के द्वारा डीपीओ स्थापना अमरेंद्र कुमार गोंड को सभी संबंधित नियोजन इकाई (पंचायत शिक्षक नियोजन इकाई, प्रखंड शिक्षक नियोजन इकाई, नगर निकाय नियोजन इकाई) को शिक्षकों के संबंध में निर्णय लेने के लिए पत्र दिया गया था. पत्र के आलोक में नियोजन इकाई द्वारा क्या-क्या कार्रवाई की गई है, इसके संबंध में डीडीसी के द्वारा समीक्षा की गई.

नियोजन इकाई नासरीगंज, दिनारा, सासाराम, करगहर तथा अन्य के द्वारा बताया गया कि वैसे सभी शिक्षकों से कारण पृच्छा की गई है. स्पष्टीकरण प्रतिवेदन प्राप्त नहीं हुआ है. इस संबंध में डीडीसी के द्वारा निर्देश दिया गया उन्हें स्मार पत्र दिया जाए तथा स्पष्टीकरण संतोषजनक नहीं होने पर अंतिम रूप से द्वितीय कारण पृच्छा की जाए तथा सेवा समाप्ति से संबंधित नियोजन इकाई द्वारा अग्रेतर कार्रवाई की जाए. कहा कि अगले 15 दिनों में 142 शिक्षकों के विरुद्ध कार्रवाई संबंधी रिपोर्ट उपलब्ध करा दिया जाए.

Leave a Reply