तिरंगे की बदौलत वतन वापसी: यूक्रेन से रोहतास वापस पहुंचा तुषार, बताई आपबीती; कहा- थैंक्यू पीएम-सीएम सर

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के बीच यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्र-छात्राओं की वतन वापसी जारी है. इस बीच रोहतास जिले के डेहरी के सुभाष नगर मुहल्ला निवासी राज कपूर शर्मा का एकलौता पुत्र तुषार राज यूक्रेन के उजहोरोद शहर से अपने घर सकुशल सुरक्षित लौट आया है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का धन्यवाद किया है. कहा कि अपने राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के कारण ही वो यहां तक सही सलामत पहुंचे हैं.

सकुशल और सुरक्षित तुषार राज के घर वापसी के बाद उसके पिता राज कपूर शर्मा एवं माँ सरिता देवी बेहद खुश हैं. इस दौरान यूक्रेन के हालत की जानकारी देते हुए तुषार राज ने बताया कि यूक्रेन में हालात बहुत खराब हैं. बताया कि रूस के यूक्रेन पर हमले के दूसरे दिन उन लोगों को भारत सरकार के सहयोग से यूनिवर्सिटी के तरफ से बस पर भारत का तिरंगा लगाकर हंगरी बॉर्डर तक पहुंचाया गया. सभी को निर्देश दिया गया था कि बस के आगे भारत का तिरंगा झंडा लगाना है. इसके साथ ही बस में बैठे सभी छात्रों के हाथों में तिरंगा झंडा लहराने को कहा गया था. जिसके बाद सभी भारतीय छात्रों ने भारतीय तिरंगे झंडे को लहराते हुए उजहोरोद से हंगरी बॉर्डर पहुंचे.

तुषार ने बताया कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति पुतिन से सभी भारतीय छात्रों को सुरक्षित अपने देश मंगाने का आग्रह किया था. जिसके बाद रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने सुरक्षा के दृष्टिकोण से गाड़ियों पर तिरंगा लगाकर आने का निर्देश दिया था. जिससे की पहचान हो जाए कि भारतीय छात्र ही वापस आ रहे है और उन सभी पर रूसी सेना द्वारा हमला नहीं किया गया. बताया कि पूरे रास्ते के दरमियान बीच-बीच में कहीं इनके बसों को रोककर पूछताछ भी की गई. सभी छात्रों द्वारा पूरे रास्ते भारत का तिरंगा झंडा लहराते हुए वंदे मातरम और जय हिंद का नारा लगाते आएं.

तुषार ने बताया कि हंगरी बॉर्डर से उसे बुद्धा पेस्ट एयरपोर्ट लाया गया. जहां से विमान से दिल्ली लाया गया. दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरने के बाद सभी राज्यों के अधिकारी द्वारा अपने-अपने राज्यों के रहने वाले छात्रों को रिसीव किया गया. जहां से बिहार के रहने वाले छात्रों को दिल्ली से हवाई रास्ते पटना एयरपोर्ट लाया गया. जहां पटना के डीएम सहित सभी आला अधिकारियों एवं मंत्रियों ने उनका स्वागत करते हुए डेहरी पहुंचाया. बताया कि उसके आलावे 240 अन्य भारतीय छात्र अपने वतन वापस आए हैं. तुषार यूक्रेन के उजहोरोद शहर के उजहोरोद नेशनल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस का पढ़ाई करता था.

तुषार ने बताया कि वहां उजहोरोद नेशनल यूनिवर्सिटी प्रबंधन और यूक्रेन सरकार द्वारा हेलीकॉप्टर के माध्यम से बार-बार निर्देश दिया जा रहा था सभी लोग यूनिवर्सिटी के बेसमेंट में छुप जाएं. इसके बाद सभी छात्र यूनिवर्सिटी के बेसमेंट में छिपे रहे. तुषार के सकुशल सुरक्षित घर वापसी पर पिता राज कपूर शर्मा व माँ सरिता देवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रति आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद दिया.

Leave a Reply