रोहतास: प्रमोद हत्याकांड का उद्भेदन; दोस्त ही निकला कातिल, दो गिरफ्तार

रोहतास जिले के शिवसागर थाना क्षेत्र के गरूणा गांव निवासी भुनेश्वर सिंह के पुत्र प्रमोद कुमार सिंह के हत्या के मामले में पुलिस ने गुरुवार को दो आरोपितो को गिरफ्तार किया है. एसपी आशीष भारती ने बताया कि करगहर थाना क्षेत्र में बुधवार को अज्ञात अपराधियों ने गरूणा निवासी प्रमोद कुमार सिंह की हत्या कर शव को छुपाने के उद्देश्य से करगहर थाना क्षेत्र के बभनी गांव के निकट महिमा डीह स्थित कुशमी बांध में फेंक दिया था. इस संबंध में करगहर थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई.

उन्होंने बताया कि इस मामले में त्वरित गिरफ्तारी के लिए करगहर थानाध्यक्ष एवं अन्य पुलिसकर्मियों की एक विशेष टीम का गठन किया गया. विशेष टीम को गुप्त सूचना मिली की उक्त कांड में संलिप्त अपराधकर्मी करगहर थाना क्षेत्र के ही बभनी गांव में ही छिपे होने की सूचना मिली. सूचना पर पुलिस की टीम ने बभनी गांव में छापेमारी कर गरूडा निवासी नीरज कुमार व बभनी निवासी रितेश कुमार को गिरफ्तार किया है. एसपी ने बताया कि दोनों मृतक के दोस्त है और इस घटना में अपनी संलिप्ता स्वीकार किया है. उन्होंने कहा कि छापेमारी दल में शामिल पुलिस पदाधिकारी व कर्मियों को सम्मानित किया गया है.

गिरफ्तारी के बाद राज खुल गया पता चला कि साथी को दिये 40 हजार रुपये हड़पने की नियत से अपने दोस्तो के साथ मिल उसकी हत्या कर नहर किनारे शव को फेक दिया. मृतक के पिता के मुताबिक प्रमोद कुमार सिंह अपने दोस्त निरंजन कुमार गुप्ता गांव गरुणा निवासी को 40 हजार रुपए दिया था. उसी रूपये की मांग करने पर वह बार बार टहला रहा था. उन्होंने कहा कि प्याज का बिचड़ा लाने के बहाने मेरे बेटे को ले जाकर उसने अपने दोस्तों के घर रुकवाया और हत्या कर बभनी बाजार के नहर के समीप लाश को ठिकाने लगा दिया. जब बेटे के घर नहीं आने की सूचना मिली तो हम लोग उसके मोबाइल पर संपर्क किए तो वह बोला कि वह अपने गांव चले गए हैं. आसपास व रिश्तेदारों में काफी खोजबीन किया लेकिन चंद घंटे बाद ही मनहूस खबर मिली कि प्रमोद की हत्या बभनी में ही कर दी गई है.

Leave a Reply