संझौली प्रखंड को इस टास्क के लिए जीतना होगा लोगों का दिल

मिशन वैक्सीनेशन को लेकर संझौली प्रखंड सभागार में बैठक करते डीएम धर्मेन्द्र कुमार

रोहतास जिले के संझौली प्रखंड में जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार के आदेश पर कोविड-19 को ले मिशन वैक्सीनेशन शुरू है. 2016 में खुले में शौच मुक्त अभियान को लेे राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरने वालेे छह पंचायतों वाले संझौली प्रखंड का वैक्सीनेशन मिशन भी कम चुनौतीपूर्ण नहीं है. कोविड-19 वैक्सीन को ले फैली गलत भ्रांतियां व अफवाहों के बीच अधिकारियों को चार जुलाई से पहले तक जागरूकता के साथ-साथ लोगों का दिल भी जीतना होगा. भ्रांतियों को मिटाने के लिए लोगों के करीब जाकर उनके दिल को टटोलना होगा व वैक्सीन को ले भ्रांतियां दूर करनी होगी. उन्हें बताना होगा कि कोविड-19 वैक्सीन ही कोरोना काल में जीवन रक्षक है. 28 हजार वैक्सीनेशन का लक्ष्य को पूरा करने के लिए प्रशासन-पब्लिक मैत्री संबंध को स्थापित करनी होगी. ओडीएफ मिशन के आईकनों को भी आगे लाने की जरूरत होगी.

जिला स्वास्थ्य विभाग के अनुसार प्रखंड में कुल 18 एवं 45 साल से ऊपर के 38 हजार 785 लोग है. जिनमें से 12 हजार 171 लोगों को वैक्सीन दिया गया है. चार जुलाई तक 26 हजार 614 लोगों को टीकाकरण दिया जाना है. हालांकि मिशन वैक्सीनेशन को लेे पंचायत वार टीम गठित कर ली गई है. टीम में विकास मित्र, आवास सहायक, आंगनबाड़ी सेविका, आशा व जीविका दीदियों को शामिल किया गया है, जो पंचायतवार लोगों को जागरूक कर उन्हें टीका केंद्रों तक पहुंचाने में मददगार बनेंगी. वार्ड स्तर पर भी लोगों को जागरूक किया जा रहा है. ऐसे में मिशन वैक्सीनेशन को ले प्रशासन पूरी तरह से लग गया है. प्रशासनिक अधिकारी सफलता की परिणाम को ओडीएफ मिशन की तरह जोड़ कर देख रहें हैं. ओडीएफ अभियान के बाद करीब छोटे-बड़े 85 गांवों व 83 वार्डो को समेटे संझौली प्रखंड को वैक्सीनेशन मिशन की सफलता की ओर अग्रसर होना सुखद बात है. अगर यह सफलता हासिल होती है तो संझौली प्रखंड के लिए यह दूसरी बड़ी जीत होगी. पर यह सफलता अधिकारियों के सफल प्रयास के साथ-साथ जनभागीदारी पर निर्भर है. मंगलवार को देर शाम जिलाधिकारी की अध्यक्षता में संझौली प्रखंड को पूर्णतः टीकाकरण से अच्छादित करने हेतु प्रखंड सभागार में बैठक भी आहूत की गई. बैठक में जिलाधिकारी द्वारा टीकाकरण प्रतिशत बढ़ाने हेतु ग्राम पंचायत स्तर पर नोडल पदाधिकारी की अध्यक्षता में दल का निर्माण करने हेतु आदेश दिया गया. उक्त दल में सभी सरकारी कर्मी एवं जन प्रतिनिधि सम्मिलत होंगे एवं अपने क्षेत्र में प्रचार-प्रसार कर सभी योग्य व्यक्ति को टीका दिलाना सुनिश्चित करेंगे.

जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार कहते हैं कि संझौली छोटा प्रखंड है व यहां के लोग जागरूक हैं. पहले भी प्रखंड के लोगों ने अपनी जागरूकता का परिचय दिया है. इस बार दो हफ्तों में शत-प्रतिशत टीकाकरण को लेे लक्ष्य निर्धारित है. पंचायत व वार्ड स्तर पर वैक्सीनेशन को ले लोगों को जागरूक करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया गया है. शत-प्रतिशत लक्ष्य को हांसिल करने के लिए जनभागीदारी के साथ लोगों को आगे आने की जरूरत है. यह सफलता एक बार पुनः गौरवपूर्ण इतिहास को दोहराएगी.

बिक्रमगंज अनुमंडल पदाधिकारी विजयंत कहते हैं कि टीम पूरी जोर शोर से काम कर रही है. संझौली प्रखंड के लोगों ने ओडीएफ अभियान के समय भी अपनी जागरूकता की एक अलग मिसाल पेश की थी, जिसकी चर्चा राष्ट्रीय स्तर पर हुई. मिशन वैक्सीनेशन में भी लोग अब तेजी से आगे आने लगे हैं. लोगों के मन-मस्तिष्क में जो भ्रांतियां थी, अब लगभग दूर हो गई है. सभी समुदाय के लोग टीकाकरण को ले आगे आने लगे है. प्रतिदिन टीकाकरण का ग्राफ बढ़ रहा है, यह सबकी सहभागिता और लोगों की जागरूकता का ही प्रतिफल है.

संझौली बीडीओ कुमुद रंजन ने बताया कि रविवार से ही टीम पूरी तत्परता के साथ लगी हुई है. पंचायत स्तर पर टीम का गठन किया गया है, जो लोगों को जागरूक कर रही है. धार्मिक संगठन से जुड़े लोग, बुद्धिजीवियों, समाजसेवियों व युवा वर्गो से भी मदद करने की अपील की गई हैं.

रिपोर्ट: प्रमोद टैगोर,
वरिष्ठ पत्रकार
Ad.

Leave a Reply