आरा में छात्रों का बवाल; सासाराम-आरा डेमू में ट्रेन लगाई आग, स्टेशन पर जमकर पत्थरबाजी, परीक्षा पैटर्न बदलने से नाराज

आरआरबी-एनटीपीसी रिजल्ट में धांधली के आरोप में दूसरे दिन मंगलवार को भी अभ्यर्थी छात्रों ने बिहार के विभिन्न शहरों में जमकर हंगामा किया. आरा में भी छात्रों का जबरदस्त प्रदर्शन दिखने को मिला. रोड़ेबाजी के बाद छात्रों का हंगामा लगातार जारी है. तोड़फोड़ कर सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया है. उग्र छात्रों ने 03672 सासाराम-आरा डेमू ट्रेन में आग लगा दी. जिससे डेमू ट्रेन का लास्ट बोगी एवं इंजन धू-धू कर जलने लगी. इस दौरान उग्र छात्रों ने ट्रेन के गार्ड की भी जमकर पिटाई की है.

प्रशासन ने ट्रेन में लगी आग पर काबू पा लिया है. उग्र छात्रों को समझाने पहुंची पुलिस पर पथराव कर दिया गया. जिसमें एएसपी हिमांशु को हल्की चोट आई है. लेकिन इस हमले में आरा के नवादा थाना के इंस्पेक्टर अविनाश कुमार को गंभीर चोट आई है. जिसके बाद उग्र छात्रों को काबू करने के लिए पुलिस को सख्त कदम उठाने पड़े. पुलिस ने उसके बाद छात्रों पर जमकर लाठियां बरसाई है. इसमें छात्रों को भी चोट आई हैं. पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे.

इस दौरान पूरा स्टेशन परिसर रणक्षेत्र में तब्दील रहा. अचानक हुए पथराव से मौके पर भगदड़ मच गई. उसके बाद ट्रैक को खाली कराया गया है. लेकिन प्रदर्शन कर रहे छात्र इससे भी नहीं माने और दूर जाकर भी पथराव करते रहे. छात्रों के प्रदर्शन की वजह से बाधित हुए रेल परिचालन से आरा स्टेशन पहुंचे रेलयात्री काफी परेशान दिखे. अभ्यर्थी छात्र रेलवे की ग्रुप डी और एनटीपीसी परीक्षा के पैटर्न में बदलाव का विरोध कर रहे हैं. रेलवे से जारी किए गए नोटिफिकेशन को वापस लेने की मांग कर रहे हैं.

पथराव और हंगामा से पहले प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने कहा था कि रेलवे बोर्ड की परीक्षा का एक महीना रह गया है. परीक्षा का नोटिफिकेशन जारी किया गया है, जो परीक्षार्थियों के हित में सही नहीं है, साथ ही एनटीपीसी के रिजल्ट में धांधली हुई है, जिसे सरकार जल्द रद्द कर फिर से परीक्षा परिणाम घोषित करे. घटना के संबंध में आरा सदर एसडीएम ज्योति सहदेव ने बताया कि उपद्रवी छात्रों द्वारा सासाराम-आरा पैसेंजर ट्रेन में आगलगी और तोड़फोड़ की गई है. पुलिस मौके पर स्थिति को नियंत्रित कर उपद्रवियों की पहचान करने में जुटी हुई है. उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

Leave a Reply