कोरोना संकट: रोहतास में बने तीन माइक्रो कंटेनमेंट जोन

रोहतास जिले में कोरोना वायरस के एक बार फिर तेजी देखने को मिल रही है. जिसके वजह से एक बार फिर सख्तियों का दौर शुरू हो गया है. जिले में विभिन्न स्थानों पर संदिग्धों की हुई जांच में छह नए कोरोना मरीज मिले. इस तरह कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर अब 18 हो गई है. सभी कोरोना संक्रमितों को होम आइसोलेशन में रखकर इलाज किया जा रहा है. कोरोना के बढ़ते खतरे के मद्देनजर जिला प्रशासन के निर्देश पर तीन माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं. जिसमें सासाराम के गौरक्षणी में एक, जक्की शहीद में एक एवं तिलौथू में एक माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं. इन इलाकों में किसी के भी आने-जाने पर रोक रहेगी.

बताया जाता है कि तकरीबन तीन माह में जिले में कोरोना का कोई नया केस सामने नहीं आया था. यह राहत बड़ी खबर थी. लेकिन, लोगों ने कोरोना को ले सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस को ताख पर रख दिया. यहीं कारण है कि मार्च महीने में कोरोना संक्रमण में तेजी देखने को मिल रही है. यह चिंता का विषय बना हुआ है. चिंता इस बात को लेकर है कि लोग कोरोना संक्रमण को ले सचेत नहीं है. बाजारों, दफ्तरों, शॉपिंग मॉल, सार्वजनिक स्थलों व भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो रहा है और न ही भीड़ में शामिल अधिकांश लोग मास्क पहन रहे हैं. कुछ लोग पहन भी रहे हैं तो सिर्फ दिखावे के लिए. वहीं सैनेटाइजर को तो लोग भूल गए हैं. अस्पताल प्रबंधन कोरोना मरीजों की संख्या में हो रहे इजाफे को ले खासा चिंतित है और इसे रोकने के उपायों में जुट गया है.

बता दें कि माइक्रो कंटेनमेंट जोन के अंतर्गत सभी निजी सार्वजनिक प्रतिष्ठान व मार्गों को अगले आदेश तक पूर्णतया बंद करने का आदेश दिया गया है. किसी भी व्यक्ति को इस क्षेत्र से बाहर न जाने की इजाजत है और न ही किसी भी व्यक्ति को क्षेत्र में आने की अनुमति दी जायेगी. आवागमन पर पूरी तरह रोक लगा दी गयी है. माइक्रो कंटेनमेंट जोन के पूरे इलाके को सेनिटाइज किया जाना है. सिविल सर्जन को निर्देश दिया गया है कि माइक्रो कंटेनमेंट जोन के परिधि में रहने वाले सभी परिवारों की गहन निगरानी करानी है. 

Ad.

Leave a Reply