लोकतंत्र के महापर्व में गांव से शहर तक दिखा वोटरों का उत्साह, रोहतास में 49.45% मतदान

बिहार विधानसभा के पहले चरण के दौरान रोहतास जिले में भयमुक्त मतदान संपन्न हो गया. लोकतंत्र में वोट की ताकत क्या है, यह बात मतदाताओं को समझ में अच्छी तरह आ गई है. न किसी से डर, न प्रलोभन, न हीं भय. लोकतंत्र के महापर्व के लिए ऐसा जुनून की कतार में लगने से भी मतदाता नहीं घबड़ाए. एक साथ कई परिवार की तीन पीढि़यां मतदान करते दिखीं.

Ad.

चलने में असमर्थ वृद्ध, दिव्यांग सब ने लोकतंत्र में अपनी भागीदारी सुनिश्चित की. नए वोटरों ने भी मतदान किया. चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के कारण भारी संख्या में महिलाओं ने भी वोट किया. वहीं काराकाट विधानसभा क्षेत्र के संझौली प्रखंड के उदयपुर मतदान केंद्र संख्या 151 पर मतदान करने एक 62 वर्षीय वृद्ध मतदाता की मौत हार्ट अटैक से हो गई.

रोहतास जिले के काराकाट, सासाराम एवं चेनारी विधानसभा में शाम चार बजे तक वोट डाले गए, जबकि डेहरी, नोखा, दिनारा, करहगर में शाम छह बजे तक वोट डाले गए. रोहतास जिले में शाम पांच बजे तक 49.45 फीसदी मतदान हुआ.

जिले के काराकाट विधानसभा में 46 प्रतिशत, सासाराम विधानसभा में 50.50 प्रतिशत, चेनारी विधानसभा में 49.70 प्रतिशत, डेहरी विधानसभा में 51.09 प्रतिशत, नोखा विधानसभा में 46.10 प्रतिशत, दिनारा विधानसभा में 49.10 प्रतिशत एवं करहगर विधानसभा में 53.38 प्रतिशत मतदान हुआ है.

जिले के सभी 3212 मतदान केंद्रों पर सुरक्षा बलों की तैनाती ने इस बार मतदाताओं के मन से डर को कोसों दूर किया. ग्रामीण क्षेत्रों में भी प्रशासन व पुलिस अधिकारियों के वाहन दिन भर दौड़ते रहे. चुनाव करा रहे सीआरपीएफ के एक जवान ने कहा कि वे कई राज्यों में चुनाव कराने गए हैं, लेकिन इतनी शांति के साथ कम ही जगह लोग वोट देते हैं. बिहार चुनाव के बारे में जो उनके मन में भ्रम था, वह दूर हो गया.

वहीं जिला मुख्यालय सहित कई विधानसभा सीटों के अधिकांश बूथों पर दोपहर के बाद ही सन्नाटा पसरा रहा. नए वोटरों की मानें तो इस बार का परिणाम चौकाने वाला होगा. उनका कहना है कि अब जात-पात के आधार पर नहीं बल्कि अंतरात्मा की आवाज पर वोट डाला है.

बताते चलें कि कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए इसबार सभी मतदान केंद्रों पर मास्क, हैंड ग्लब्स, डस्टबिन समेत थर्मल स्क्रीन की भी व्यवस्था की गई थी. थर्मल स्क्रीनिग के बाद ही वोटरों को बूथ के अंदर भेज जा रहा था. वहीं जिले के कई बूथों पर हैंड ग्लब्स और डस्टबिन की व्यवस्था नहीं की गयी थी.

यहाँ क्लिक कर देखें पहले चरण में हुए सभी विधानसभा सीटों के वोटिंग प्रतिशत: Ceo Bihar

Leave a Reply