नोखा के क्वारंटाइन सेंटरों पर शुरू हुआ योगभ्यास, शारीरिक शिक्षक दे रहे हैं प्रशिक्षण

बिहार के कई क्वारंटाइन सेंटर में हंगामे की खबरों के बीच अच्छी खबर भी सामने आई है. रोहतास जिले के नोखा नगर पंचायत क्वारंटाइन सेंटर कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय एवं सर्वोदय मध्य विद्यालय में क्वारंटाइन किए गए लोगों के लिए योगा क्लास कराया जा रहा है. कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में रहने वाली महिलाओं को गीतांजलि मिश्रा एवं सर्वोदय मध्य विद्यालय में शरीरिक शिक्षक अभिषेक कुमार योग प्रशिक्षण दे रहे हैं.

इन दोनों क्वारंटाइन सेंटर पर दूसरे राज्यों से आए 100 श्रमिक रह रहे हैं. यहां श्रमिकों को पद्मासन, सिद्धासन, सुखासन, वज्रासन, पश्चिमोत्तानासन, धनुरासन, शवासन, गोमुखासन, प्राणायाम समेत अन्य योग क्रिया का प्रशिक्षण दिया जा रहा है. वहीं, कोरोना के भय के बीच बाहर से आए प्रवासी श्रमिक योगाभ्यास के बाद उत्साहित दिखे.

मौके पर उपस्थित नपं ईओ सुशील कुमार ने बताया कि सरकार के निर्देश पर उनके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए योगाभ्यास कराया जा रहा है. योग विद्या भारतवर्ष की एक अमूल्य धरोहर है. कोरोना से लड़ने के लिए हमे अपने इम्युनिटी पावर को बढ़ाना होगा जिसमें योग कारगर साबित हो रहा है. योग से सभी लोगों के अंदर एक अनुशासन की भावना भी जागेगी और ये लोग अपने समाज में जाकर दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करेंगे, जो समाज के लिए काफी अच्छा माहौल बनाने का प्रयास करेगा.

योगाभ्यास सीखा रहे शिक्षक का कहना है कि, योगा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए लोग कतारबद्ध बैठते हैं. साथ ही मास्क भी पहनने की सलाह दी जाती है. उन्होंने बताया कि योग में बहुत बड़ी ताकत है. वर्तमान में पूरा विश्व कोरोना वायरस के खतरे से लड़ रहा है. वायरस के अटैक से बचने के लिए सभी योगा करना बेहद ही जरूरी है. क्योंकि जब हम हृिष्ट पुष्ट रहेंगे तो कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा सकता है.

Leave a Reply