रोहतास के पहाड़ी क्षेत्र में सीआरपीएफ सख्त, बिहार-यूपी सीमा पर हो रही निगरानी

रोहतास के पहाड़ी क्षेत्र में बिहार-यूपी बॉर्डर पर तैनात सीआरपीएफ एवं जिला पुलिस

रोहतास जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में वृद्धि होने एवं पड़ोसी राज्य झारखंड के पलामू एवं गढ़वा दोनों जिला में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के रोगियों के जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद रोहतास के पहाड़ी क्षेत्र में सीआरपीएफ एवं स्थानीय पुलिस प्रशासन रोहतास और नौहट्टा प्रखंड के सोन नदी के किनारे बसे गांवों में सख्ती बढ़ा दिया है. डीएम पंकज दीक्षित के निर्देश पर दोनों प्रखंड में सोन नदी से लेकर कैमूर पहाड़ी पर बसे गांवो तक बाहरी लोगों को आने जाने पर पूरी सख्ती के साथ रोक लगा दिया गया है. सोन नदी के नाव घाट से लेकर प्रखंड के गांवों के गलियों तक गुजरने वाली सड़क मार्ग पर निगरानी बढ़ा दिया गया है.

सीआरपीएफ के सहायक समादेष्टा सुभाष चन्द्र झा और यदुनाथपुर के थानाध्यक्ष श्यामनन्दन सिंह बिहार उत्तरप्रदेश सीमा पर स्थित डुमरखोहा गांव पहुंच गये और वहां डेहरी रोहतास यदुनाथपुर सड़क पर निगरानी शुरू कर दिया, ताकि किसी बाहरी व्यक्ति का अपने राज्य के सीमा में प्रवेश नहीं हो सके. सीआरपीएफ द्वारा तीन राज्य बिहार, झारखंड एवं उत्तरप्रदेश के सीमा पर चौकसी बढ़ा दिया गया है.

रोहतास के पहाड़ी क्षेत्र में बिहार-यूपी बॉर्डर पर तैनात सीआरपीएफ एवं जिला पुलिस

स्थानीय पुलिस प्रशासन को ग्रामीणों से निरन्तर सूचना मिल रही थी कि लोग सोन नदी में पानी कम हो जाने के कारण उत्तरप्रदेश एवं झारखंड से पैदल चलकर पार कर जा रहे हैं. वही उत्तर प्रदेश से मजदूर तबका के लोग इस सड़क मार्ग को घनघोर जंगल से गुजरने के कारण पैदल व साइकिल से चलकर नौहट्टा प्रखंड के सीमा में प्रवेश कर बिहार राज्य के दूसरे जिला में जा रहे हैं. इस सूचना के मिलने के बाद दोनों प्रखंड में लॉकडाउन को सख्ती से पालन कराने के लिए पुलिस प्रशासन सख्त हो गया है.

Leave a Reply