रोहतास में हथियारों के साथ पांच अपराधी गिरफ्तार

गिरफ्तार अपराधी के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करते सासाराम एएसपी

रोहतास जिले के चेनारी थाना क्षेत्र के कैमूर पहाड़ी की तराई वाले भागों में रोहतास और कैमूर पुलिस ने मंगलवार की रात विभिन्न जगहों पर सघन छापेमारी अभियान चलाया. इस दौरान चार हथियार के साथ पांच बदमाशों को गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तार बदमाशों को पूछताछ के बाद प्राथमिकी दर्ज कर बुधवार को जेल भेज दिया गया.

Ad.

सासाराम एएसपी अरविन्द प्रताप सिंह ने बताया कि गत एक पखवारे से कैमूर पहाड़ी की तलहटी में असामाजिक तत्वों की लगातार चहलकदमी की सूचना मिल रही थी. जिसे लेकर पुलिस इन क्षेत्रों में लगातार छापेमारी कर रही थी. इस क्रम में अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार कर उनके पास से एक देसी कट्टा, दो देसी राइफल, एक एकनाली बंदूक, 10 जिंदा कारतूस, एक बंडोलिया समेत अन्य सामान बरामद किया गया है. कहा कि कैमूर पुलिस के तरफ से दी गई पुख्ता जानकारी के आधार पर शिवसागर सर्किल के इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार के नेतृत्व में चेनारी थानाध्यक्ष राकेश कुमार, बड्‌डी थानाध्यक्ष आदि पुलिस कर्मियों की दो टीमें एक ही साथ चिन्हित ठिकानों पर छापेमारी की. जिसके साथ एसटीएफ के जवान भी थे. कहा कि गिरफ्तार अभियुक्त श्यामसुंदर बिंद, कृष्णा बिंद व मोहन बिंद का पूर्व से अपराधिक इतिहास रहा है.

छापेमारियों में श्याम सुंदर बिंद के पास से 315 बोर की एक रायफल, सहदेव बिंद उर्फ लुला के पास से 12 बोर के बंदूक और मोहन बिंद के पास से 315 बोर की एक राइफल जब्त की. जबकि रवि बिंद 315 बोर के कट्टा के साथ पुलिस बल को देखकर भागते समय पकड़ा गया. पुलिस टीम को देखने के बाद भाग रहे अपराधियों को लगभग पांच सौ मीटर दौड़ाकर एसटीएफ के जवानों ने गिरफ्तार किया. रात के अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में एक भी अपराधी सफल नहीं हो पाया. गिरफ्तारी के बाद इन पांचों अपराधियों के पास से उनके हथियार भी बरामद हुए. जिनमें 12 बोर के नौ जिंदा कारतूस व 7.62 एमएम की एक जिंदा कारतूस भी जब्त हुई. 12 बोर के जिंदा कारतूस एक पेटी में बंद थे. जिन्हें अपराधी ने पुलिस को देखते हुए दूर फेंक दिया. उसे भी एसटीएफ जवान जब्त किए.

गिरफ्तार अपराधी एक संगठित गिरोह बनाने के फिराक में थे. जो पिछले एक महीने से हथियार के बल पर क्षेत्र में लोगों को डराना धमकाना शुरू कर दिए थे. गिरोह बनाकर क्षेत्र में घूमने की सूचना पुलिस को मिली थी. ये रोहतास के बड्‌डी व चेनारी थाना के अलावे कैमूर के करमचट और अधौरा इलाके तक अपनी गतिविधियां बढ़ा रहे थे. जिन पर पुलिस पिछले एक पखवारे से नजर रखी हुई थी. जैसे ही पता चला कि दो अलग-अलग जगहों पर ये अपराधी किसी योजना को अंजाम तक पहुंचाने वाले हैं तो पुलिस की दो टीमों ने छापेमारी कर दी. छापेमारी अभियान में बड्डी थानाध्यक्ष संतोष कुमार, चेनारी थाना के एसआइ विद्या भूषण, एएसआइ मुकेश कुमार, सेफ, बीएमपी, एसटीएफ समेत भारी संख्या में पुलिस बल के जवान शामिल थे.

Leave a Reply