रोहतास: घर में घुसकर पॉलिटेक्निक के छात्र की निर्मम हत्या, पिता से फोन पर बात कर रहा था और होने लगा चाकुओं से वार

मृतक छात्र प्रिंस

रोहतास जिले के डेहरी थाना क्षेत्र में अज्ञात अपराधियों ने रविवार रात घर में घुसकर पॉलिटेक्निक के छात्र की चाकुओं से गोद कर निर्मम हत्या कर दी. हत्यारों ने छात्र के शरीर के कई हिस्सों पर चाकू से वार किया और हत्या कर फरार हो गए. मृतक की पहचान सासाराम मुफस्सिल थाना क्षेत्र के जयपुर गांव के रहने वाले मुकेश कुमार सिंह के 18 साल के पुत्र प्रिंस कुमार उर्फ बजरंगी के रूप में हुई है. फिलहाल प्रिंस पढ़ाई लिखाई के सिलसिले में डेहरी के डिलिया स्थित करबला रोड में अपने ही मकान में रह रहा था. वह जेम्स पॉलिटेक्निक इंस्टीट्यूट औरंगाबाद का छात्र था.

घटना की सूचना मिलने के बाद न्यू डिलिया में भय और खौफ के माहौल में मातमी सन्नाटा पसरा है. आपसी रंजिश के कारण हत्या की आशंका जतायी गयी है. हालांकि अभी तक इस मामले का खुलासा नहीं हुआ है. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए सासाराम के सदर अस्पताल भेज दिया है. बताया जाता है कि प्रिंस घर में अकेला था. मृतक के पिता रविवार को जयपुर गए थे और मां अपने छोटे बेटे के साथ मायके गई हुई थी. वह अपने घर में अकेले लैपटॉप खोल कर पढ़ाई कर रहा था. इसी दौरान रात करीब 9 बजे प्रिंस अपने पिता से मोबाइल पर बातें करने लगा. पिता से मोबाइल पर बातचीत के दौरान ही घर में घुसकर अपराधियों ने इस वारदात को अंजाम दिया.

मृतक के पिता मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि उनकी प्रिंस से फोन पर बातचीत हो रही थी. उसी दौरान अपराधियों ने घर में घुसकर उसकी हत्या कर दी. उन्होंने बताया कि बातचीत कर करते-करते अचानक शोर-शराबा होने लगा. प्रिंस ने कहा कि पापा कुछ लोगों ने हमला कर दिया है. उसके बाद प्रिंस के चिल्लाने की आवाज आने लगी और देखते ही देखते सन्नाटा पसर गया. उसके पिता समझ गये कि कुछ अनहोनी हुई है. उसके बाद उन्होंने पड़ोसियों को फोन किया तो पता चला कि मकान के द्वार पर जगह-जगह खून गिरा है और मकान से कुछ दूरी पर प्रिंस खून से लथपथ पड़ा है. हत्यारों ने प्रिंस के शरीर पर कई बार चाकू से वार कर छलनी कर दिया है. इतने से भी उन हत्यारों का मन नहीं भरा तो धारदार हथियार से उसका गला, हाथ, पीठ पर वार कर निर्मम हत्या कर दी है. इस सनसनी खेज वारदात के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैली हुई है. हर कोई इस घटना को लेकर हतप्रभ है.

पिता का कहना है कि दो पुत्रों में मृतक सबसे बड़ा पुत्र था. वह दोनों पुत्रों को पढ़ाने लिखाने के उद्देश्य से गांव से हटकर डेहरी नगर परिषद क्षेत्र में मकान बनाकर किसी तरह रह रहे थे. ताकि दोनों बेटे शहर में पढ़ लिखकर कुछ आगे कर सके. पहले भी कई बार मां और पिता प्रिंस को घर में अकेले छोड़कर गांव चले जाते थे. घटना के पीछे कारण क्या है? इसकी तलाश में पुलिस जुटी है. पुलिस विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखकर मामले की जांच में जुटी है. एसपी आशीष भारती पूरे मामले की खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं. उन्होंने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया है कि जल्द से जल्द अपराधियों की गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाए. जो भी दोषी होंगे उसे बख्शा नहीं जायेगा.

Leave a Reply